पीएफ (प्रॉविडेंट फंड)

पीएफ एक ऐसा word है जिससे हर एक job करने वाला व्यक्ति अवगत होता है लेकिन starting में लोगों को पीएफ के बारे में खास जानकारी नहीं होती है और ये तो लगभग 90% लोगों को पीएफ का पूरा नाम नहीं पता होता है, हालाँकि PF सभी employees के भविष्य के लिए saving होती है लेकिन फिर भी अधिकतर लोगों को पीएफ withdraw करनें में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है क्यूंकि पीएफ का सिस्टम काफी पेचीदा है और यदि आपके पीएफ account में एक छोटी सी problem हो जाती है तो उसे fix करने में काफी समय लग सकता है पीएफ withdraw करने में काफी ज्यादा समय लग सकता है।

पीएफ (प्रॉविडेंट फंड)

पीएफ का फुल फॉर्म – Provident Fund

यानीं की भविष्य निधि, क्यूंकि ये service employees के भविष्य के लिए होता है इसलिए पीएफ का portal ePF के domain पर चलता है जिसका मतलब होता है employees Provident fund, ePF portal पर जाकर account holder अपने पीएफ से related जानकारियां देख सकता है और चाहे तो PF claim भी कर सकता है लेकिन जिसके लिए कुछ शर्तें भी होती हैं।

पीएफ एक government scheme है जोकि private sector में काम करने वाले लोगों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है, जिसमें खुद employee का भी contribution होता है, साथ में company और सरकार द्वारा भी contribute किया जाता है और employee के भविष्य के लिए एक अच्छी राशि तैयार हो जाती है।

क्यूंकि middle calss के लोगों की सैलरी भी इतनीं नहीं होती है की वो direclty बहुत अधिक save कर पाएं क्यूंकि जितनीं उनकी salary होती हैं उससे ज्यादा तो उनके खर्च होते हैं तो इस condition में व्यक्ति सिर्फ उस वक्त तक ठीक से रह सकता है जब तक वो job कर रहा हो और job छोड़नें के बाद उसके बाद कोई भी saving या income source नहीं होगी लेकिन इस इसका निवारण है PF

पीएफ द्वारा employee के भविष्य के लिए एक बड़ी एक बड़ी राशि इकठ्ठा हो जाती है क्यूंकि हर महीनें employee के पीएफ account में एक छोटी राशि जमा होती रहती है, हालाँकि ये राशि छोटी जरूर होती है लेकिन थोड़ा थोड़ा करके ये एक बड़ी राशि बन जाती है जोकि empoyee के बुढ़ापे का सबसे बड़ा सहारा होता है।

हालाँकि ये जरुरी नहीं है की ये राशि व्यक्ति अपने  बुढ़ापे के लिए ही बचा कर रखे बल्कि वो चाहे तो उससे पहले भी कभी भी निकाल सकता है लेकिन उसके लिए भी कुछ conditions होती हैं उन conditions के आधार पर ही employee अपनीं राशि withdraw कर सकता है।

पीएफ अकाउंट

चूंकि पीएफ के government scheme है जोकि private sector के employees के लिए होता है, इसलिए  government द्वारा एक portal provide किया गया है जिसपर employer (Company) अपना registration कर सकते हैं ताकि अपने employees को PF दे सकें और जब कोई भी व्यक्ति job के लिए जाता है तो company द्वारा उसका PF account create किया जाता है जिसमें employees को एक UAN number दिया जाता है।

यूएएन नंबर

यूनिवर्शल अकाउंट नंबर

ये employees के पीएफ का account number होता है जिसके जरिये employee अपने PF account में login कर सकता है और उसके PF account में कितने रूपये जमा किये जा रहे, अपने PF account का पूरा ब्योरा देख सकता है हाँ कोई भी employee अपने UAN number के जरिये अपने पीएफ account में login कर सकता है लेकिन उसमें कोई भी changes नहीं कर सकता है क्यूंकि almost important changes को employer द्वारा approve किया जाना होता है।

हाँ लेकिन अपने account से apply कर सकता है और अपने employer से बोलकर उसे approve करवा सकता है हालाँकि वैसे तो employer खुद ही employees के द्वारा submit किये गए changes को approve कर देते हैं लेकिन शायद उसमें ज्यादा time लग जाता है।

universal account number 12 digits का होता है जिसके साथ login करनें के लिए password की भी जरुरत होती है जैसे की facebook इत्यादि में login किया जाता है password भूलनें की स्थिति में reset भी किया जा सकता है।

केवाईसी

पीएफ में kyc एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है क्यूंकि बिना kyc के आप अपना पीएफ withdraw नहीं कर सकते हैं क्यूंकि kyc ही वो process जिसके through आपके PF account में आपका bank account और any documents add किये जाते हैं जैसे की bank account, pan card, aadhar कार्ड, और आप normally कोई भी केवाईसी नहीं add कर सकते हैं।

क्यूंकि कोई भी kyc आपके आपके PF account में तभी add की जाएगी जब आप आपके employer द्वारा approve की जाएगी, यदि आप अपनें PF account से कोई amount withdraw करना  चाहते हैं तो kyc updated होनीं चाहिए जिसमें शामिल है bank account, pan card, aadhar card, लेकिन यदि आपनें अपने PF account में kyc नहीं की है तो अभी kyc submit करें और अपने employer से उसे approve करने को कहें ताकि आप  अपना पीएफ withdraw कर सकें।

मार्क एग्जिट

Mark exit एक ऐसी process होती है जिससे हम अपने PF account में update करते हैं की हम job छोड़ चुके हैं और mark exit करते वक्त reason भी add करना होता है की आखिर आपनें job क्यों छोड़ा, इसमें कोई भी option डाला जा सकता है,  इसकी सबसे important चीज होती है की कोई भी mark exit तभी कर सकता है जब उसको job छोड़े कम से कम दो महीने हुए हों।

क्लेम

क्लेम एक ऐसी process होती है जिससे हम अपना PF withdraw कर सकते हैं इसमें अलग अलग conditions में तीन forms मिलते हैं, PF 31, advance, इस form के जरिये आप advance में PF withdraw कर सकते हैं क्यूंकि बिना mark exit किये हमारे पास PF withdraw का option नहीं होता है  best option advance form होता है जिससे हम अपने total PF  50% amount withdraw कर सकते हैं, बस इसमें एक reason देना होता है  की आप advance में PF क्यों withdraw करना चाहते हैं।

Form 19 only PF, 19 form के जरिये आप अपना पूरा PF withdraw कर सकते हैं याद रहे सिर्फ पीएफ withdraw होगा pension नहीं, और PF withdraw करनें के लिए आपको income tax से बचनें के लिए form 15 G भी fill करना होगा जोकि pdf file में होगा, form 15 G को आप online download कर सकते हैं और form fill कर सकते हैं और form 19 fill करते वक्त इसे upload कर सकते हैं।

Form 10c, ये form pension contribution को withdraw करनें के लिए इस्तेमाल किया जाता है इससे आप अपनें PF का पूरा pension withdraw कर सकते हैं।

पीएफ withdraw timing

वैसे तो इसमें कुछ ज्यादा समय नहीं लगता है claim करनें के बाद almost 1 week में राशि आपके account में आ जाएगी लेकिन यदि इतने दिनों में आपका PF withdraw नहीं होता है तो डरने की बात नहीं है हो सकता है कुछ अधिक time भी लग जाये लगभग 15 – 20 दिन।

और हो सकता है की आपका claim reject भी कर दिया जाये जी हाँ बहुत से cases में PF claim reject भी कर दिया जाता है इसलिए याद रहे की claim के लिए for submit करते समय सावधानीं बरतें और errorless form fill करें, maybe PF reject होता है तो उसमें आपको बताया भी जायेगा की क्या error है उसे fix करके पुनः claim किया जा सकता है।

पीएफ मेंबर आईडी

जिस तरह से UAN number होता है ठीक उसी तरह से पीएफ account के अंदर member id होती है और per company की अलग अलग member id होती है यदि आपनें सिर्फ एक company में काम किया है तो एक member id होगी, लेकिन यदि आपनें दो companies में काम किया होगा तो तो दो member id होगी,  यानीं की company change करने पर नयी company की नयी member id होगी और पुरानीं member id को नयी id में transfer करना होगा क्यूंकि old member id का amount उसी member id में रह जाता है।

और यदि आप अपना पीएफ withdraw करना चाहेंगे तो सिर्फ आपके new member id का पीएफ withdraw होगा इसलिए यदि आप अपना PF withdraw करने की सोच रहे हैं और आपके पास multiple member id है तो पहले old member id को नए member id में transfer कर लें और उसके बाद ही PF withdraw करें ताकि आपका पूरा PF withdraw हो सके।

पीएफ पासबुक

सभी पीएफ अकाउंट holder अपने PF account में login करके passbook देख सकते हैं और download भी कर सकते हैं passbook में PF का पूरा data मौजूद होता है यदि आपके PF account में multiple member id हैं तो आपको multiple passbooks मिलेंगी ताकि आप 100% accuarate detail देख सकें और कोई misunderstanding ना हो, क्यूंकि यदि सभी member id का data एक ही passbook में होगा तो वो काफी confusing होगा।

पीएफ नॉमिनी

पीएफ में nominee का option भी मौजूद है जोकि काफी अच्छा option है और यदि आप कहीं job करते हैं और आपको PF मिलता है तो nominee जरूर add करें, जिससे की किसी दुर्घटना के होने पर आपका PF पूरी तरह से सुरक्षित रहे और nominee को amount मिल सके।

पीएफ क्लेम प्रोसेस

Normally जब हम online banking, upi इत्यादि से कोई transaction करते हैं तो वो instantly complete हो जाता है क्यूंकि उसे किसी भी तरह के manual action की जरुरत नहीं होती है।

क्यूंकि वो computer programmed होता है और हम सिर्फ कुछ seconds में किसी भी तरह का transaction कर सकते हैं लेकिन PF में ऐसा नहीं, PF withdrawl में कुछ अधिक time लगता है क्यूंकि  PF की सभी process manual रूप से होती हैं, सबसे  पहले तो claim करने के लिए कुछ conditions और यदि आपका PF account उन conditions को agree नहीं करता है तो direct claim के बजाय आपको advance में claim करना होगा।

claim करने के बाद आपकी request को ePF portal पर submit कर दिया जाता है जिसके बाद कुछ समय में field office द्वारा आपके claim पर action लिया जाता है यदि आपका claim सही है तो उसे आगे की process के लिए भेज दिया जाता है और employee को sms भेज दिया जाता है की उसका claim accept कर लिया गया है और कुछ दिनों में वो amount आपके account में भेज दिया जायेगा।

बस फिर आपको wait करना होता है और कुछ दिनों में आपका amount आपके bank account  में भेज दिया जायेगा जिसकी सूचना आपके sms की जरिये मिल जाएगी और साथ में आपकी PF account में भी claim status में claim settled दिखाई देने लगेगा, जबकि claim reject होने की स्थिति में claim rejectd दिखाई देता है और claim reject होने का reason भी बताया जाता है।

यूएएन नंबर प्रोब्लम

बहुत से लोग अपना uan number भूल जाते हैं और इसका result ये होता है की वो अपने PF account में login नहीं कर पाते हैं अपना PF नहीं check कर पाते हैं तो इस condition में emeployee के पास दो रास्ते होते हैं पहला तो ये की वो चाहे तो HR से contact करके अपना uan number पता कर सकता है और दूसरा तरीका है खुद से अपना uan number पता करना।

uan numbe bhool gaye to kya kare

जिसके लिए बस https://unifiedportal-mem.ePFindia.gov.in/memberinterface/ जाएँ और know your uan पर click करके अपना वो mobile number डालें जोकि आपके PF account से linked है और captcha डालें, request otp पर click करें, आपके mobile number पर OTP आएगा उसे डालें और verification complete करें आपको आपने uan number मिल जायेगा लेकिन शायद अभी आपका uan number activate नहीं होगा उसे आपको activate करना होगा।

एक्टिवेट यूएएन

भले ही हम कोई  use कर रहे हों तो password भूलनें की स्थिति में हम forgot password पर click करके password change कर सकते हैं जिससे की हमें जाया password मिल जाता है हालाँकि हम अपने पीएफ account का password change कर सकते हैं लेकिन यदि आपका UAN number activate नहीं होगा और आप password change करनें  का प्रयाश करेंगे तो आपको एक error दिखाई देगा जिसमें बताया जायेगा की अभी आपका uan activate नहीं है तो सबसे पहले आपको अपना uan number activate करना होगा।

https://unifiedportal-mem.ePFindia.gov.in/memberinterface/ पर जाएँ और activate uan पर click करें

UAN kaise activate kareUAN kaise activate kare

अपना UAN number डालें, name, date of birth, mobile number और captcha डालें, आप चाहें तो uan number डालने के बजाय आधार कार्ड number या फिर pan number भी डाल सकते हैं लेकिन यदि आपके PF account में इनकी kyc नहीं हुयी है तो आप इनसे अपना uan activate नहीं कर पाएंगे, UAN number, Member id, Aadhar, pan number इनमें से कोई भी एक डाल सकते हैं लेकिन UAN number ही डालें ज्यादा better रहेगा।

Get authorization pin पर click करें otp आएगा उसे डालकर verification complete करें आपका uan activate हो जायेगा, अब इसके बाद बारी है password set करनें की।

वैसे तो जब आप अपना uan number activate करेंगे तो ePF द्वारा स्वतः एक strong password create कर दिया जायेगा और साथ में आपको वो password आपको sms भी कर दिया जायेगा जिसका इस्तेमाल करके आप अपने PF account में login कर सकते हैं।

पीएफ अकाउंट पासवर्ड

https://unifiedportal-mem.ePFindia.gov.in/memberinterface/ पर जाएँ और forgot password पर click करें, अपना uan number डालें नीचे आपको captcha डालनें का option मिलेगा captcha डालें और submit पर click करें, otp आएगा उसे डालें और नया password create करें और हाँ सबसे जरुरी बात आप अपने PF account के लिए simple password नहीं create कर सकते हैं यानीं की mixed password होगा जिसमें alphabates, numbers, symbols शामिल हों, definitely इस तरह का password याद रखना थोड़ा hard होता है लेकिन कोई बात नहीं आप इसे कहीं note भी कर सकते हैं।

PF account ka password kaise change kare

और हाँ अधिकतर लोग PF claim करनें के लिए या PF से related कोई भी task हो उसके लिए computer shop पर जाते हैं और अपना uan, password उनके साथ share करते हैं हालाँकि वैसे तो कोई भी दूसरा व्यक्ति आपके account में बिना वजह छेडखानीं नहीं करेगा लेकिन फिर जब आपका task पूरा हो जाये तो अपना password पुनः change कर दें ताकि वो व्यक्ति पुनः बिना आपकी permission के आपके account में login ना कर पाए।

हालाँकि किसी भी decision के लिए otp verification की जरुरत पड़ती है जिससे की बिना आपके otp share करनें पर वो व्यक्ति आपके account में कुछ नहीं कर पायेगा लेकिन फिर safety जरुरी है।

पीएफ केवाईसी करना

PF claim करने के लिए kyc complete होना जरुरी है

सबसे पहले https://unifiedportal-mem.ePFindia.gov.in/memberinterface/ पर जाएँ और अपना uan नंबर + password और captcha डालकर login करें

manage पर click करके kyc पर click करें, इसमें आपको bank, pan, aadhar, passport का option मिलेगा जिसमें से passport को छोड़कर बाकी सभी जरुरी है।

तो सबसे पहले bank पर click करें और अपना bank account number डालें, ifsc code डालें, confirm bank account number में भी अपना वही account नंबर डालें और save पर click करें, ठीक उसी तरह से pan पर click करें और अपना pan number डालकर save कर दें।

आधार पर click करें और अपना आधार नंबर डालकर save पर click करें, uidai द्वारा otp आएगा डालकर verify कर दें, finally आपकी PF kyc हो चुकी है अब आपको कुछ दिन wait करना पड़ सकता है लगभग 1 week, क्यूंकि आपके employer द्वारा इसे approve किया जाना है और यदि आप चाहते हैं की जल्दी आपकी kyc approve हो जाये तो आपके अपनें HR से बात कर सकते हैं उनसे कह सकते हैं की इसे जल्दी approve कर दें।

पीएफ निकालना

तो finally आप PF withdraw करनें के लिए ready हैं और PF withdraw करना बहुत ही easy है बस https://unifiedportal-mem.ePFindia.gov.in/memberinterface/ पर जाएँ और login करके अपने account में जाएँ और online services पर click करके claim (Form ……) पर click करें

अपना bank account number डालें और verify पर click करके ok पर click करें, याद रहे इसमें वही number पड़ेगा जोकि kyc में approved है उसके बाद proceed पर click करें, इसमें आपको वो forms मिलेंगे जिनके लिए आप apply करना चाहते हैं (Advance, only PF, only pension)

आप जिनके लिए applicable होंगे वो forms यहाँ दिखाई देंगे लेकिन यदि only PF या only pension form available नहीं है तो आपको mark exit करनें करनें की जरुरत पड़ेगी और ऐसा तब किया जाता है जब आप job छोड़ चुके हों ऐसी condition में आप advance में PF withdraw कर सकते हैं, advance में PF कैसे withdraw करें।

bank account डालकर verify करनें के बाद पीएफ advance form 31 को चुनें और form fill करें जिसमें आपकी basic जानकारियां डालनी होंगी।

और इस form में आपको ये बताना होगा की आप कितना amount निकालना चाहते हैं और क्यों निकालना चाहते हैं आप अपने पूरे PF का आधा amount डाल सकते हैं form fill करनें के बाद term को accept करें और sent otp पर click करें।

आपके पीएफ से linked आपके mobile number पर आधार otp आएगा उसे डालकर verification complete करें, verification complete होने पर आपका claim submit हो जायेगा जिसे कुछ समय में field office द्वारा check किया जायेगा और उचित निर्णय लिया जायेगा।

आपके claim की condition आप online services में claim status में जाकर देख सकते हैं।

तो आपको ये जानकारी की पीएफ के बारे में कैसी लगी हमें कमेंट में बताएं और साथ ही इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें ।

Leave a Comment