Sim kaise port kare, Sim port kaise kare trai.gov.in

कभी भी कोई भी यूजर अपने सिम कार्ड को किसी भी दूसरी कंपनी में पोर्ट करा सकता है, और इसके लिए उसे कोई भी कंपनी रोक नहीं सकती है क्योंकि इसका पूरा अधिकार ट्राई के पास होता है, जोकि इंडियन टेलीकॉम सेक्टर का रूट होता है और इसके नियमों के अनुसार कोई भी टेलीकॉम कंपनी किसी भी यूजर को जबरदस्ती रोक नहीं सकती है, कोई भी यूजर अपनी इच्छा से किसी भी दूसरी कंपनी में अपनी सिम को पोर्ट करवा सकता है।

How to port sim card, SIM kaise Port kare trai.gov.in

बौसी लोकेशंस पर टेलीकॉम कंपनियां अच्छा प्रदर्शन करते हैं यानी कि उनके नेटवर्क काफी ज्यादा अच्छे होते हैं और काफी हाई स्पीड इंटरनेट मिलता है, और कॉलिंग भी बेहतर होती है लेकिन यदि आप किसी ऐसे में है कि आप की मौजूदा सिम कार्ड की कंपनी आपको बेहतर नेटवर्क नहीं प्रोवाइड कर रही है, और आपको उसके सर्विसेज भी पसंद नहीं है तो आप अपनी सिम कार्ड को किसी दूसरी कंपनी में भी पोर्ट करवा सकते हैं।

सिम कार्ड पोर्ट करवाना चाहिए या नहीं

इस बारे में आपको ज्यादा नहीं सोचना है कि आपको अपना सिम कार्ड पोर्ट करवाना चाहिए या नहीं करवाना चाहिए, वैसे भी आप को बेहतर नेटवर्क और सर्विस नहीं मिल रही है यानी कि आप उस कंपनी से संतुष्ट नहीं है, आपको किसी दूसरी कंपनी की सर्विस अच्छी लग रही है तो आप अपने नंबर को उस दूसरी कंपनी में पोर्ट करवा ले क्योंकि यह परमानेंट नहीं होता है, आप बाद में पुनः चाहे तो पोर्ट करवा कर उसी कंपनी में वापस भी आ सकते हैं यानी कि एक बार सिम पोर्ट करवाने के बाद 3 महीने के अंतराल पर आप उन्हें अपनी सिम को पोर्ट करवा सकते हैं, तो आप अभी निश्चिंत होकर अपना सिम कार्ड पोर्ट करवा सकते हैं आपको कोई भी नुकसान नहीं होगा।

SIM port karwane ke liye documents

याद रहे आपको अपना आधार कार्ड साथ में अवश्य ले जाना है क्योंकि बिना आधार कार्ड के आप सिम को पोर्ट नहीं करवा पाएंगे।

  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • अल्टरनेट मोबाइल नंबर
  • आपकी खुद की मौजूदगी

इसमें से आधार कार्ड आपका सबसे मुख्य डॉक्यूमेंट होगा क्योंकि इसके बिना आप अपना खुद का वेरिफिकेशन नहीं कर पाएंगे, और आपकी सिम पोर्ट नहीं की जाएगी उसके बाद साथ ही आपका वह मोबाइल नंबर होना चाहिए जिसको आप पोर्ट करना चाहते हैं, और साथ ही यदि आपके पास कोई अल्टरनेट यानी कि दूसरा मोबाइल नंबर हो तो ज्यादा बेहतर होगा, क्योंकि इस सिचुएशन में आपके नए नंबर पर जो भी एक्टिविटी चल रही होगी उसकी जानकारियां आपको आपके अल्टरनेट मोबाइल नंबर पर मिल जाएंगे, और साथ ही आपके पोर्ट हुए नए सिम को वेरीफाई करने में भी आसानी होगी।

और आपकी खुद की मौजूदगी भी उस टेलीकॉम स्टोर पर होना जरूरी है, क्योंकि आपका लाइव फेस कैम किया जाएगा तो ही आपका वेरिफिकेशन कंप्लीट होगा।

आपके फोन में आउटगोइंग चालू होना चाहिए यदि नहीं है तो सबसे पहले उसका रिचार्ज करवाएं

हालांकि पहले के नियम थोड़ा आसान होते थे जिसमें हम कम से कम का रिचार्ज करवा कर भी मैसेज भेज सकते थे और यहां तक की इनकमिंग हमेशा चालू रहती थी, लेकिन मौजूदा स्थिति कुछ ज्यादा ही टाइट है और ऐसे में इनकमिंग आउटगोइंग बहुत ही जल्दी बंद हो जाती है, और आप कोई भी छोटा रिचार्ज करवा कर मैसेज भी नहीं भेज पाएंगे, तो यदि आप अपना सिम कार्ड किसी दूसरी कंपनी में पोर्ट करवाना चाहते हैं तो आपको इस बारे में उसी समय सोचना चाहिए, जब आपके नंबर पर रिचार्ज हो और आउटगोइंग चालू हो ताकि आप सिम कार्ड पोर्ट करवाने के लिए मैसेज भेज पाए।

यदि आपके नंबर पर आउटगोइंग बंद हो गई है तो आपको अपना सिम कार्ड कम से कम 100+ का रिचार्ज करवाना होगा, ताकि आप पोर्ट करवाने के लिए मैसेज भेज सकें, इस समय टेलीकॉम कंपनियां इससे कम के रिचार्ज में मैसेज भेजने की सर्विस नहीं देती है, और कोई भी सिम कार्ड पोर्ट करवाने के लिए जरूरी होता है कि उसी नंबर द्वारा पोर्ट का s.m.s. भेजा जाए।

SIM port karne ke liye message bheje

अब आपको अपना नंबर पोर्ट करवाने के लिए एक मैसेज भेजना होगा जो कि कुछ इस तरह से होगा, PORT 81******37 और इसे 1900 पर भेज दें

याद रहे और आपको कैपिटल लेटर में लिखना है और स्पेस देकर अपना मोबाइल नंबर टाइप करना है, और 1900 पर भेजना है उसके बाद आपके सिम पोर्ट रिक्वेस्ट का रिप्लाई यानी कि एक मैसेज आएगा, जिसमें सिम पोर्ट करने की परमिशन का कोड होगा

अपने नजदीकी मोबाइल सर्विस सेंटर पर जाएं

इसके ऊपर तक की प्रोसेस को आप खुद भी कर सकते हैं लेकिन मैसेज भेजने के बाद आपका कार्य खत्म हो जाता है, और आपको अपनी नजदीकी किसी मोबाइल सर्विस सेंटर पर जाना होगा जो कि उस कंपनी का हो जिस कंपनी में आप अपना सिम कार्ड पोर्ट करवाना चाहते हैं, उदाहरण के लिए आप ले सकते हैं कि यदि आपका सिम एयरटेल है और आप एयरटेल से जिओ में जाना चाहते हैं तो आपको जिओ सेंटर पर जाना होगा, जहां पर जिओ सिम सर्विसेस मौजूद है क्योंकि आप एयरटेल से जिओ में पोर्ट करवाना चाहते हैं तो मैसेज भेजने के बाद एयरटेल का काम खत्म हो जाता है, और पोर्ट करवाने का कोड मिल जाता है उसके बाद की प्रक्रिया अगले टेलीकॉम कंपनी द्वारा की जाती है जिसमें आप जाना चाहते हैं ।

अपने नजदीकी सेंटर पर जाने के बाद आप उन्हें बताएं कि अपनी सिम कार्ड पोर्ट करवाना चाहते हैं और उन्हें वह कोड भी दिखा दें, जोकि आप के मैसेज भेजने के बाद आया था और आपका वेरिफिकेशन किया जाएगा, जिसमें आपका नाम पता फोटो इत्यादि शामिल होंगे

बस कुछ ही मिनट में आपका वेरिफिकेशन कंप्लीट हो जाएगा और आपकी रिक्वेस्ट को वेरिफिकेशन के लिए भेज दिया जाएगा, अब उस सेंटर एजेंट द्वारा आपको नया सिम कार्ड दिया जाएगा जिसको आपको आपके फोन में इंसर्ट कर लेना है, या फिर आप चाहें तो ना भी लगाएं इससे कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है, बस आपको इतना ध्यान देना है कि जैसे ही आपके पुरानी सिम कार्ड में नेटवर्क आना बंद हो जाए तो आपको अपना नया सिम कार्ड अपने फोन में लगा लेना है, क्योंकि जैसे ही आपका पुराना सिम कार्ड बंद होगा आपका नया सिम कार्ड चालू हो जाएगा।

उसके बाद आपको अपने नए सिम कार्ड का वेरिफिकेशन करना होगा क्योंकि बिना वेरिफिकेशन कि आपका सिम कार्ड एक्टिवेट नहीं होगा, और यह वेरिफिकेशन आप खुद भी कर सकते हैं, यदि आपको मोबाइल या इंटरनेट के बारे में ज्यादा नॉलेज नहीं है तो आप किसी अपने आसपास के लोगों से इस बारे में मदद ले सकते हैं या फिर आप चाहे तो नीचे दी हुई प्रक्रिया का भी पालन कर सकते हैं।

Nayi port ki gayi sim ko chalu kaise kare

यदि आप अपनी सिम कार्ड पोर्ट करवा चुके हैं, और लगभग 48 घंटे या जो भी समय व्यतीत हुआ हो उसके बाद आपका सिम कार्ड चालू हो गया हो, यानी कि नेटवर्क आने लगा हो तो आप किसी भी नंबर पर कॉल कर सकते हैं, जिसके लिए 198 या किसी भी दूसरे नंबर पर कॉल करेंगे तो सबसे पहले आपको अपने फोन नंबर का वेरिफिकेशन करना होगा, जिसके लिए आपको पूछा जाएगा।

  • वेरिफिकेशन करने के लिए कहे तो उसकी यानी key 1 को दबाएं
  • उसके बाद आपके अल्टरनेट मोबाइल नंबर पर ओटीपी भी भेजा जाएगा जिसे आपको डालना होगा, और अपना मोबाइल नंबर वेरीफाई करना होगा लेकिन बहुत से लोगों के पास अल्टरनेट नंबर नहीं होता है, तो फिर उनके लिए दूसरा ऑप्शन होता है जो क होता है आधार कार्ड वेरिफिकेशन
  • यदि आपके पास अल्टरनेट नंबर नहीं है और आप ओटीपी एक्सेस नहीं कर पा रहे हैं, तो आप 198 डायल करने के बाद ओटीपी मांगे तो कोई भी गलत ओटीपी डाल दें, उसके बाद आपसे कहा जाएगा कि आपके द्वारा डाला गया ओटीपी गलत है, और साथ ही यह भी कहा जाएगा कि यदि आपके पास आपका अल्टरनेट मोबाइल नंबर नहीं है तो 2 दबाएं आपको 2 दबाना होगा
  • अब आपसे आपके डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए पूछा जाएगा जिसमें आप आधार कार्ड सिलेक्ट कीजिए, और आपसे आप के आधार कार्ड के लास्ट 4 digit डालने के लिए कहा जाएगा तो आप अपने आधार कार्ड के अंत के 4 अंक डालिए
  • उसके बाद आपका डेट ऑफ बर्थ पूछा जाएगा जोकि आपके आधार कार्ड में है उसे डालें, और कंफर्म करें आपका मोबाइल नंबर वेरीफाई हो जाएगा, और बस कुछ ही मिनटों में आपका मोबाइल नंबर चालू हो जाएगा

Sim card port karne ka tareeka?

  • सबसे पहले 1900 पर पोर्ट मैसेज भेजना होगा और आपको एक एमएनपी कोड मिलेगा, उसके साथ आपको नजदीकी टेलीकॉम स्टोर पर जाना होगा
  • और आगे की सारी प्रक्रिया वह करेंगे और आपको नई सिम दी जाएगी और उसके एक्टिवेशन में लगभग 48 घंटे लगेंगे
  • उसके बाद आपको अपना वेरिफिकेशन करना होगा जो कि अल्टरनेट नंबर या फिर आधार द्वारा किया जा सकता है

Online SIM kaise port kare

सिम कार्ड ऑनलाइन ही पोर्ट किया जाता है लेकिन हर कोई ऐसा नहीं कर सकता है, बल्कि वही ऐसा कर सकते हैं जो कि टेलीकॉम कंपनी एजेंट हो क्योंकि उन्हें कुछ एक्सेस दिया गया होता है, जिसके जरिए सिम कार्ड को पोर्ट कर पाते हैं इसके लिए आप उस कंपनी के स्टोर खोलो ने जिस कंपनी में आप अपना सिम कार्ड पोर्ट करवाना चाहते हैं, जैसे कि यदि आप एयरटेल में हैं और जियो में जाना चाहते हैं तो आप जियो का स्टोर ढूंढो और यदि आप जियो में है, और एयरटेल में अपना सिम कार्ड पोर्ट करवाना चाहते हैं तो एयरटेल का स्टोर ढूंढे।

Ek number kitni bar port karva sakte hain

नंबर को पोर्ट कराने की कोई भी निश्चित सीमा नहीं है आप जितनी बार चाहे अपनी सिम को दूसरे किसी टेलीकॉम कंपनी में पोर्ट करवा सकते हैं, बस इसके लिए शर्त यह है कि आप को कम से कम 3 महीने एक टेलीकॉम कंपनी में रहना होगा, उसके बाद ही आप किसी दूसरी कंपनी में अपना सिम कार्ड पोर्ट करवा पाएंगे

SIM port hone me kitna samay lagta hai

सिम कार्ड पोर्ट करवाना बहुत ही आसान है और आप 10 से 15 मिनट में अपना सिम कार्ड पोर्ट करवा सकते हैं, लेकिन पोर्ट होने में आपका सिम कार्ड लगभग 48 घंटे तक ले सकता है या हो सकता है कि इससे भी अधिक यानी कि लगभग 3 दिन तक का समय ले ले, तो आपको 48 घंटे तक लगभग wait करना है, और जैसे ही आपके पुराने सिम कार्ड में नेटवर्क आना बंद होता है आपका नया सिम कार्ड चालू हो जाएगा, और आपका नया सिम कार्ड एक्टिवेट करने के लिए आपको वेरिफिकेशन करना होगा जो कि आप खुद भी कर सकते हैं

घर बैठे सिम कैसे पोर्ट करें

घर बैठे आप सिम पोर्ट करवा सकते हैं हां लेकिन आप पोर्ट रिक्वेस्ट के लिए मैसेज भेज सकते हैं, जिसके बाद आपको एमएनपी कोड मिल जाएगा, और उस कोड के साथ आपको नजदीकी टेलीकॉम स्टोर पर जाना होगा और आगे की प्रोसेस टेलीकॉम स्टोर एजेंट इन ठीक करेंगे।

Sim card dubara kab port karva sakte hain

एक बार सिम कार्ड पोर्ट करवाने के बाद कम से कम आपको 3 महीने यानी कि 90 दिन इंतजार करना होगा, उसके बाद ही आप दुबारा अपनी सिम कार्ड पोर्ट करवा पाएंगे।

इस लेख में आपको जानकारी मिली सिम कैसे पोर्ट करें हमें उम्मीद है कि ये जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी।

एक आर्टिकल में आपने सीखा Sim kaise port kare और Apni sim ko dusri company me kaise transfer kare trai.gov.in हमें उम्मीद है ये जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.