Police ki shikayat kaise kare, Police complaint kaha kare

यदि आप अपने राज्य के पलिस विभाग की किसी  भी कर्मचारी के खिलाफ शिकायत करना चाहते है तो आप किसी प्रकार से और कहा शिकायत कर सकते है, और इसका प्रोसेस क्या है और इसके लिए हमारे पास क्या क्या होना चाहिए आज के इस पोस्ट में हम आप लोगो को इसी के बारे में पूरी जानकारी देंगे।

बहुत बार देखा गया है की हम कोई भी F.I.R करते है तो उस F.I.R को हमारे क्षेत्र के पुलिस द्वारा उस F.I.R को स्वविकार नहीं किया  जाता या फिर पुलिस विभाग को कोई भी कर्मचारी हमारे साथ दुर्वव्हार करता है, या हमारे साथ कोई गलत करता  है जो की उसे नहीं करना चाहिए या कोई भी कारण हो सकता है जिस वजह से आप पुलिस की शिकायत को दर्ज करवाना चाहते है तो हमारा एक की सवाल होता है की पुलिस की शिकायत कहां करें, तो आज आप  इस पोस्ट में इन्ही के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

How to complaint against a police officer in Hindi

यदि आप किसी भी पुलिस कर्मचारी की शिकायत करना चाहते है तो सबसे पहले आपको ये जानना चाहिए की हम किस परिस्तिति में पुलिस की शिकायत कर सकते है, अगर हम पुलिस की बात करे तो पुलिस एक ऐसा सुरक्षा बल होता है जिसका उपयोग किसी भी देश की अन्दरूनी नागरिक सुरक्षा के लिये गठित किया गया है, जिसमे की एक पुलिस का मूल कर्तव्य कानून व्यवस्था व लोक व्यवस्था को स्थापित रखना तथा अपराध नियंत्रण व निवारण तथा जनता से प्राप्त शिकायतों की सुनुवाई करना और उस पर कार्रवाही करना होता है।

इसके साथ साथ समाज के समस्त वर्गों में समानता कायम रखने हेतु आवश्यक प्रबध करना और महत्वपूर्ण व्यक्तियों व संस्थानों की सुरक्षा के साथ साथ समस्त व्यक्तियों के जान व माल की सुरक्षा करना है।

यदि आपको ऐसा लगता है की कोई भी पुलिस विभाग का कर्मचारी इन सभी कर्तव्यों का पालन नहीं करता और वह सरेआम गलत करता है जिस वजह की किसी भी व्यक्ति या आप की ही जान या माल की हानि होती है और आपके पास इस चीज का सबूत भी है की आपके साथ कोई पुलिस वाला गलत करता है तो आप किसी शिकायत कर सकते है, जिसके लिए बहुत से तरीके है जो की आपकी मदद कर सकते है।

जब भी हमारे आस पास कोई भी लड़ाई होती है या हमारे ही साथ किसी से लड़ाई होती है जिसमे हमे F.I.R लिखवाने की जरूरत पड़ती है या किस अपने से बड़े व्यक्ति की शिकायत पुलिस स्टेशन में दर्ज करवानी होती है तो कई बार ऐसा देखा गया है की पुलिस वाले हमारी शिकायत ही नहीं दर्ज करते है और या फिर अगर दर्ज भी कर लेते है तो इस पर कोई भी कार्यवाई ही नहीं करते है।

और अगर हम ज्यादा उनके साथ अपने अधिकार की बात करते है तो हमारे साथ कई प्रकार का दुरवेव्हर करते है, या हमारे साथ कुछ ऐसा करते है जो की उनकी नहीं करना चाहिए, तो ऐसे हमे उस पुलिस वाले के खिलाफ शिकायत को करने की जरूरत होती है, या इनके से किसी भी प्रकार का शिकायत का कारण हो सकता है जैसे –

  • यदि कोई  भी पुलिस कर्मचारी किसी बाजार या दुकान पर जबरदस्ती वसूली करता है या करने की कोशिस करता है।
  • पुलिस की हिरासत में किसी भी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है।
  • किसी भी प्रकार के आपके द्वारा किये गए F.I.R को दर्ज नहीं किया जाता है और आपके साथ दुरवेव्हर किया जाता है।
  • किसी महिला के साथ पुलिस कर्मचारी द्वारा दुष्कर्म या बलात्कार करना या करने की कोसिस करना।
  • पुलिस द्वारा किसी की संपत्ति पर जबरन कब्जा करना या करने की कोसिस करना।
  • या पुलिस की हिरासत में किसी महिला के साथ बलात्कार करना या करने की कोशिस करना आदि।

इन में से जो भी छोटे मामले होते है उन चीजों के लिए आप कई तरीको का इस्तेमाल कर सकते है, जैसे कुछ सामान्य से तरीके होते है जिससे आप इस चीज का निवारण कर सकते है जैसे जब आप कोई भी F.I.R लिखवाने जाते है या किसी भी प्रकार की शिकायत लेकर जाते है तो आपको अपनी शिकायत किसी छोटे पद के पुलिस  के कर्मचारी से अपनी शिकायत लिखवाते है अगर वो किसी भी प्रकार से गलत वेवहार कर रहा है या आपकी शिकायत नहीं दर्ज कर रहा है तो आप उससे बड़े अधिकारीयों से उसकी शिकायत कर सकते है।

Police ki shikayat kaise kare

यदि आप किसी भी पुलिस के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाना चाहते है तो आपको सबसे पहले अपनी शिकायतों को समझना चाहिए की आप जो भी शिकायत करने जा रहे है वो कितनी गंभीर है अगर कोई छोटी – मोटी बात है तो आपक अपनी शिकायत पुलिस स्टेशन में मौजूद बड़े अधिकारियो से शिकायत कर सकते है, जैसे अगर किसी होम गॉर्ड, कांस्टेबल, हवलदार आदि छोटी पोस्ट वालों की शिकायत आप वहां मौजूद इंस्पेक्टर या सब इंस्पेक्टर कर सकते है।

यदि इंस्पेक्टर या सब इंस्पेक्टर की कोई शिकायत करनी हो तो आप इसने भी बड़े अधिकारियो से या फिर आप डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के पास जा कर शिकायत कर सकते हैं, या अगर आप नहीं जा सकते है तो आप इसके लिए पत्र भी लिख सकते है।

यदि आपकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है तो पुलिस वालों के ऊपर निगरानी रखने के लिए विधि कार्य विभग की टीम होती है, आप उसके पास भी इसकी शिकायत कर सकते है शिकायत के लिए आपके साथ जो भी घटना घटी है उसके बारे में  विस्तार से एक पत्र लिखे और यदि आपके पास घटना से संबंधित कोई सबूत है तो उसे संलग्न करें और शिकायत पत्र को विधि कार्य विभाग के  अधिकारियों के पास डाक के माध्यम से या खुद जाकर दे सकते हैं।

और इसके लिए जो जरूरी होगा वो इस विभाग द्वारा किया जायेगा और आपकी सुनुवाई की जाएगी, यदि आप किसी भी कारण से ये न कर सके या आपने शिकायत किया और इस विभाग ने कोई भी करवाई नहीं की तो  आप अपने प्रदेश में मौजूद Police complaint authority (PCA) को सूचित कर सकते है।

Police complaint authority को हिंदी में पुलिस शिकायत प्राधिकरण (पीसीए) कहा जाता है, यह एक ऐसा डिपार्टमेंट है जो अनुचित या घटिया जांच, प्राथमिकी दर्ज करने से इनकार करने, हिरासत में यातना और पुलिस के खिलाफ मनमानी के आरोपों का न्यायनिर्णयन करता है।

कोई भी व्यक्ति जिसके साथ पुलिस द्वारा अनुचित व्यवहार किया गया है वह व्यक्ति सीधे अपनी शिकायत pca में दर्ज करा सकता है, यदि वह खुद शिकायत दर्ज करने में असमर्थ है तो उसके परिवार के सदस्य, रिश्तेदार, दोस्त या कोई अन्य चश्मदीद गवाह भी जिसने सारी घटनाओं को देखा है वह भी अपनी शिकायत को PCA में दर्ज करा सकता है।

कुछ राज्यों में PCA नहीं होता ऐसे में आप अपनी शिकायत  कोर्ट या हाई कोर्ट में लेकर जा सकते है और इसके लिए मुकदमा दर्ज करवा सकते है।

जनसुनवाई से किसी पुलिस अधिकारी या अन्य सरकारी कर्मचारी की शिकायत कैसे करें

यदि जनसुनवाई के माध्यम से आप अपनी शिकायत करना चाहते है तो आप बहुत ही आसानी से जनसुनवाई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपने शिकारित को दर्ज करवा सकते है, या आप 1076 पर भी कॉल करके अपनी शिकायत को दर्ज करवा सकते है, और ध्यान रहे की जनसुनवाई उत्तर प्रदेश के लिए है और अलग अलग राज्य के लिए उस राज्य द्वारा चलाई गई वेबसाइट अलग अलग होती है, तो आप जिस भी राज्य से है आप उसी राज्य की वेबसाइट पर जाकर शिकायत दर्ज करवा  सकते है।

इस लेख में आपने सीखा Police ki shikayat kaise kare और Police ki complaint kaha kare हमें उम्मीद है ये जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.