आईपी एड्रेस क्या है, IP full form in Hindi, Internet protocol kya hai

यदि आप internet use करते हैं तो कभी न कभी आपको IP address problem face करना पड़ा होगा जैसे की this site’s address could not be found या फिर your IP address has changed इत्यादि लेकिन एक normal internet user के लिए IP बहुत अधिक matter नहीं करता है क्यूंकि उन्हें कभी  की जरुरत नहीं पड़ती है लेकिन internet पर कोई specific task करने वाले व्यक्ति IP से काफी अच्छे से aware होते हैं।

What is IP address in hindi, IP address kya hai

IP का full form Internet Protocol होता है IP यानीं की internet protocol को multiple computer के बीच एक सम्बन्ध स्थापित करने के लिए develop किया गया था ताकि multiple computer को एक साथ जोड़ा जा सके और सूचना का आदान प्रदान हो सके और IP के development से ही शुरुवात हुयी थी internet की क्यूंकि tcp/IP के जरिये multiple devices को connect करना possible हो गया था।

और internet का भी मतलब यही होता है यानीं की interconnected network, हमने previous article में बतया था की internet का full form kya hai उसे पढ़ें आपको internet के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी, internet और IP कोई अलग चीजें नहीं है क्यूंकि IP multiple computers के बीच  सम्बन्ध स्थापित करता है और वो सम्बन्ध ही internet कहा जाता है।

क्यूंकि जब लोग internet use करते हैं तो वो user device यानीं की mobile/computer के IP से उस website के server से IP के जरिये connection बनता है जिसे वो access करना चाहता है, user और उस website के server में सम्बन्ध स्थापित करने में isp कार्य करती हैं।

क्यूंकि directly हम किसी दूर स्थित server को access नहीं कर सकते हैं फिर चाहे हमारे पास उसका पूरा data, detail क्यों ना हो बल्कि जरुरत होती है एक ऐसे connection की जो हमें उस website की IP तक पहुँचने में help करे जोकि उस server से connected हो और ऐसे में isp हमारी मदद करते हैं।

चाहे जो website हो वो एक IP पर ही चलती है हालाँकि IP use करने के लिए और याद रखना थोड़ा hard था इसलिए domain name system use किया जाता है, और users को जरा भी idea नहीं होता है की वो एक IP से information collect कर रहे हैं क्यूंकि IP सिर्फ connection के लिए use किया जाता है बाकी contents domain पर चलाये जाते हैं।

यदि अभी भी आप confuse हैं तो ये IP open करके देख लीजिये 172.217.14.196 ये IP address google का है जब आप इस IP को open करेंगे तो ये आपको google पर लेकर जायेगा।

ठीक इसी तरह से सभी devices की IP होती है फिर चाहे वो कोई phone हो या computer इत्यादि क्यूंकि बिना IP के interconnected network possible नहीं है और यदि आप अपने computer या mobile की IP check करना चाहते हैं तो आप google  search कर सकते हैं “What is my ip” आपका IP address show होगा।

क्या internet इस्तेमाल करने पर internet companies मेरी IP को देख सकते हैं

जी हाँ बिलकुल, यदि आप internet use कर रहे हैं और किसी website पर visit कर रहे हैं तो वो आपकी IP को देख सकता है यहाँ तक की वो आपकी IP को save भी कर सकता है और आपकी IP पर उस webpage के जरिये कोई भी command दे सकता है ठीक इसी तरह से webpages भी कांम करते हैं internet companies easily check कर सकती है की उनके webpages को कितनीं बार open किया गया है और किस IP द्वारा open किया गया है।

क्या IP address को block भी किया जा सकता है

जी हाँ कोई भी internet company आपकी IP को block कर सकती है जिससे आप उस website को access नहीं कर पाएंगे जिसनें आपको block किया है, वैसे तो कोई भी website किसी भी IP को block नहीं करती है क्यूंकि हर website चाहती है की उसे अधिक custumer मिलें लेकिन कुछ suspicious conditions या inactivity या unusuall traffic की वजह से आपकी IP को block भी किया जा सकता है।

अपनीं IP कैसे छुपाएं ताकि internet use करने पर कोई भी मेरी IP न देख सके

इसका सबसे best option है vpn क्यूंकि vpn के इस्तेमाल से कोई भी आपको trace नहीं कर पायेगा की आखिर आप कौन हो और कहाँ से हो क्यूंकि vpn के इस्तेमाल से किसी भी task के लिए आपका IP address नहीं use होता है बल्कि vpn provider की IP connection के लिए use की जाती है।

यदि आप vpn use करेंगे तो कोई भी website, isp इत्यादि आपकी IP को नहीं देख पाएंगे, और सबसे बड़ी बात आप उन contents, services को भी use कर पाएंगे जोकि आपकी country में banned हैं।

हालाँकि वो content देखने के लिए vpn connection के लिए वो country select करनीं होगी जिस country में वो content ban ना हो।

IP address kitne prakar ke hote hain

IP address 4 प्रकार के होते हैं और दो version में

  • Public – ये एक ऐसा IP address होता है जोकि multiple devices के लिए होता है जब किसी router या hotspot द्वारा आप अपने devices connect करते हैं तो उन सभी devices में जोकि उस router से connected हैं उनके IP address same होंगें।
  • Private – Private IP address उसे कहते हैं जोकि private devices में मौजूद होता है जैसे की mobile, computer, tablet क्यूंकि इन IP address को किसी अन्य person द्वारा नहीं देखा जा सकता है, हालाँकि यदि आप किसी website को visit करते हैं तो वो website और isp आपके IP को देख सकते हैं।
  • Static – ये एक IP होती है जोकि servers के लिए use की जाती है सभी websites द्वारा अलग अलग IP assign की जाती है या बहुत सी sites द्वारा shared static IP use की जाती है।
  • Dynamic – Dynamic IP वो IP होती है जोकि आपको internet से connect करती है और ये IP change होती रहती है लेकिन normal users को इस बात का पता नहीं चलता है लेकिन यदि आप site admin हैं और कभी अपने cpanel में enter किया है तो आपनें face किया होगा की IP change होने की वजह से आप logout कर दिए गए होंगें।

Versions

  • IPv4 – IPv4 internet protocol का पहला version था क्यूंकि इसी के development से सभी devices को परस्पर connet करना possbile हुवा था mostly इसी का इस्तेमाल होता है।
  • IPv6 – इसका अविष्कार 1994 में हुवा था जोकि ipv4 से अधिक advanced है।

क्या आप एक website owner हैं या बनाना चाहते हैं Website ip

जैसा की हम पहले ही बता चुके हैं की internet का connection IP पर ही आधारित होता है तो सभी websites भी एक IP पर run करती हैं तो जिस तरह से हमारे सभी devices के अलग अलग IP address होते हैं websites के लिए अलग अलग IP जरुरी नहीं है क्यूंकि single IP पर भी ढेरों websites चलती हैं, जिन्हें shared IP कहा जाता है यानीं की कई सारे website owners ने उस single IP को share किया होता है लेकिन ऐसा mostly beginners द्वारा किया जाता है।

क्यूंकि सभी professional websites dedicated IP करती हैं dedicated IP का मतलब होता है एक ऐसी IP जिसपर पूरी तरह से किसी एक व्यक्ति का अधिकार हो और वो जो भी चाहे उस ip  साथ कर सकता है।

shared IP के लिए कोई extra charge नहीं लगता है लेकिन dedicated IP के लिए extra payment करनीं होती है हालंकि ये छोटे hosting plans पर होता है जबकि avergae और बड़े plans पर सभी को free IP address मिलता है।

Mere phone ka IP address kya hai

बस गूगल में सर्च करें “what is my IP” आपको आपके फोन का आईपी एड्रेस दिखाई देगा

इस लेख में आपने सीखा IP address kya hai और IP full form in Hindi हमें उम्मीद है ये जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी।

Last Updated on June 30, 2022 by Pankaj Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published.