डीएम की सैलरी कितनी है, DM salary per month 2022

डीएम एक जिले का सबसे बड़ा प्रशासनिक अधिकारी होता है जिसके अंतर्गत जिले का सभी सरकारी विभाग शामिल हो जाता है और ये जिले के सभी सरकारी विभाग का मुखिया होता है  डीएम का फुल फॉर्म –  District Magistrate होता है जिसको हम हिंदी में जिला कलेक्टर कहते है वैसे तो लोग ज्यादातर कलेक्टर शब्द का ही use करते है DM ki salary kitni hoti hai.

डीएम बनने के बाद उनकी अच्छी खासी सुविधा और सैलरी प्रोवाइड की जाती है क्या आपको  पता है की डीएम की सैलरी कितनी है यदि नहीं पता है तो कोई बात नहीं ये रही जानकारी

DM ka vetan kitna hota hai

एक डीएम की सैलरी  7 वें वेतन आयोग के हिसाब से मिलता है जिसमे यदि हम इनका बेसिक pay देखे तो 56100 रुपया मिलता है इसके साथ ही इनको TA, DA और HRA भी मिलता है.

यदि कोई डीएम के पद पर नियुक्त किया जाता है तो starting में उनको बेसिक सैलरी के रूप में 56,100 रुपये ही मिलता है सभी भट्ठों को जोड़कर 78000+ सैलरी होती है, और समय के साथ साथ सैलरी बढ़ती जाती है जोकि अधिकतम सैलरी 2,00,000 होती है, इनको इसके अलावा भी भारत सरकार द्वारा बहुत सी सुविधाएँ प्रदान की जाती है जैसे – रहने के लिए घर, चलने के लिए गाड़ी , खाना बनाने वाला, नौकर और पुलिस सुरक्षा इसके साथ ही कुछ अन्य सुविधाएं भी प्राप्त होती है

ये सारी सुविधाएं जो भारत सरकार द्वारा मिलती है इसको उनके बेसिक सैलरी में नहीं जोड़ा जाता है अगर सैलरी और भत्ता दोनों को देखा जाये तो इनको हर महीने लगभग डेढ़ लाख रूपये से ज्यादा मिल जाता है

हालंकि स्टार्टिंग के बाद में डीएम को एक फिक्स सैलरी के रूप में 78,800 रुपये मिलता है अन्य सभी भत्तों को छोड़कर जैसे जैसे प्रमोशन होता रहता है उसी हिसाब से सैलरी भी मिलती है

एक डीएम को कम से कम 56100 रुपया और अधिकतम ढाई लाख रूपये मिल सकता है हालांकि इतना सैलरी मिलने में आपको काफी साल  सकते है क्योंकि जब आपका प्रमोशन या कोई वेतन आयोग लगता है तभी एक डीएम की सैलरी बढ़ती है

वही दूसरी तरफ यदि कोई आईएएस अधिकारी कैबिनेट सेक्रेटरी के पद पर पहुंच जाता है तो इनको हर महीने बेसिक सैलरी और अन्य सुविधाएं मिलाकर लगभग ढाई लाख रुपये मिल जाते है

अब आप समझ ही गए होंगे की एक आईएएस अधिकारी बनने के बाद कैबिनेट सेक्रेटरी पद मिलने पर ज्यादा सैलरी मिलती है

डीएम के रिटायर होने के बाद कितना सैलरी मिलता है?

एक डीएम अधिकारी जब भी रिटायर्ड होता है तो उसके बाद उनको  सैलरी नहीं दी जाती है लेकिन सैलरी के बदले उनको हर महीने pension जरूर मिलती है।

DM ki power kya hoti hai

डीएम जिले का मुख्य अधिकारी होता है और उस जिले के गवर्नमेंट/प्राइवेट सेक्टर पर डीएम का नियंत्रण रहता है।

DM ki salary kya hota hai

DM ki salary kitni hoti hai

इस लेख में आपने सीखा DM ki salary kitni hoti hai हमें उम्मीद है ये जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published.