करंट अकाउंट क्या है, Current account meaning in Hindi, chalu khata kya hai

करंट अकाउंट यानिकि चालू खाता यह एक प्रकार का ऐसा खाता है जिसमे आप एक दिन में कई लेन देन कर सकते है इसमें कोई लिमिट नहीं होती है ज्यादातर करंट अकाउंट मुख्यरूप से व्यवसायियों, फर्मों, कंपनियों और सार्वजनिक उद्यमों आदि के लिए होता है। जिनमे में दिन भर में जितने चाहे उतने बैंकिंग लेन देन कर सकते है। यदि आपका बैंक में करंट अकाउंट है तो आपके अकाउंट पर बैंक द्वारा कोई ब्याज नहीं दिया जायेगा यानिकि बचत खाते की तरह पैसा जमा करने पर ब्याज नहीं मिलेगा। करंट अकाउंट खुलवाने का उद्देश्य न तो ब्याज कमाने का होता है और न ही बचत करने का होता है बल्कि बिजनेस की सुविधा के लिए खुलवाया जाता है ताकि आप बैंक द्वारा जितना भी पैसा चाहे और दिन में जितनी बार चाहे लेन देन कर सकते है। इसलिए इस खाते को करंट अकाउंट नाम से भी पुकारा जाता है। करंट अकाउंट चालू रखने के लिए मिनिमम बैलेंस मेन्टेन रखना पड़ता है नहीं तो बैंक द्वारा आपसे पेनाल्टी भी लिया जा सकता है या आपका करंट अकाउंट खाता बंद भी किया जा सकता है। इस खाते को चालू रखने के लिए बैंक द्वारा कुछ चार्ज भी लिया जाता है इसके साथ ही इसमें चेक बुक की भी सुविधा प्रदान की जाती है।

What is current account in Hindi

Current account kitne prakar ke hote hain

सभी बैंको में करंट अकाउंट अलग अलग हो सकते है जिनके लिए अलग अलग पालिसी होती है इसमें हम आपको एसबीआई बैंक के करंट अकाउंट के प्रकार का example देने वाले है।  और अन्य बैंको के करंट अकाउंट की policy भी लगभग समान ही होती है।

रेगुलर करंट अकाउंट

रेगुलर करंट अकाउंट छोटे व्यवसायियों, पेशेवरों, व्यापारियों आदि के लिए आदर्श है, जिन्हें नाममात्र की लागत पर सभी सुविधाओं के साथ चालू खाते की आवश्यकता होती है। इस तरह के खाते में मिनिमम औसत बैलेंस 5000 रूपये होना चाहिए इसमें प्रतिमाह पांच लाख रूपये तक मुक्त जमा कर सकते है इसके लिए कोई चार्ज नहीं कटेगा तथा सभी 22000+ एसबीआई बैंक शाखाओं में नकद निकालने और जमा करने की सुविधा होगी। इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से मुफ्त एनइएफटी/आरटीजीएस की सुविधा। इसके  साथ ही हर महीने 50 मल्टीसिटी चेक फ्री।

गोल्ड करंट अकाउंट

गोल्ड करंट अकाउंट उन प्रमुख व्यवसायियों, प्रोफेशनलों, व्यापारियों आदि के अनुकूल है जो थोक नकदी लेनदेन करते हैं तथा अपने परिचालन को विस्तार देना और विविधिकरण चाहते हैं। इसमें पर्याप्त अतिरिक्त सेवाएं रियायती दरों पर प्रदान की जाती हैं जिससे पर्याप्त मात्रा में लेनदेन की लागत में कमी आती है। इसमें मासिक मिनिमम औसत बैलेंस एक लाख होना चाहिए। गोल्ड करंट अकाउंट में प्रतिमाह 25 लाख रूपये मुफ्त नकदी जमा कर सकते है तथा प्रति माह मुफ्त 300 मल्टिसिटी चेक की सुविधा भी मिलती है।

डायमंड करंट अकाउंट

डायमंड चालू खाता उन प्रतिष्ठित व्यवसायिकों, शीर्ष पेशेवरों, बड़े व्यापारियों आदि के लिए बहुत ही अनुकूल है जो देश भर में फैले हुए है तथा थोक नकदी लेनदेन और बड़ी संख्या में भुगतान और वसूली लेनदेन करते हैं। इसमें मासिक मिनिमम औसत बैलेंस 5 लाख होना चाहिए इसमें प्रति माह रु. 1 करोड़ तक मुफ्त नकदी जमा तथा प्रति माह मुफ्त 700 मल्टिसिटी चेक की सुविधा मिलती है।

प्लेटिनम करंट अकाउंट

प्लेटिनम चालू खाता उन ग्राहकों के लिए है जो स्वयं के लिए और अपने व्यवसाय के लिए सबसे अच्छा उत्पाद चाहते हैं। इस चालू खाते में सभी प्रमुख सेवाएं असीमित मुफ्त प्रदान किया जाता है ताकि यह देश भर के प्रमुख व्यवसायिकों, शीर्ष पेशेवरों, बड़े व्यापारियों आदि के लिए थोक नकदी लेनदेन तथा बहुत बड़ी संख्या में भुगतान और वसूली लेनदेन करने में सुविधाजनक और लागत प्रभावी हो सके। इसमें मासिक मिनिमम औसत बैलेंस 10 लाख होना चाहिए इसके साथ ही इसमें बहुत सी सुविधाएं प्रदान की जाती है।

करंट अकाउंट खुलवाने के लिए शर्तें

  • करंट अकाउंट मुख्यरूप से व्यवसायियों, फर्मों, कंपनियों और सार्वजनिक उद्यमों आदि के लिए होता है। यह खाता सार्बजनिक लोगो के लिए नहीं खोला जाता है।
  • करंट अकाउंट चालू रखने के लिए हर बैंक द्वारा अपनी अलग अलग मासिक मिनिमम बैलेंस मेन्टेन करने की शर्त निर्धारित होती है।
  • मिनिमम बैलेंस मेन्टेन न रखने पर आपको बैंक द्वारा निर्धारित पेनाल्टी शुल्क देना होगा अन्यथा आपका करंट अकाउंट बंद किया जा सकता है।
  • करंट अकाउंट में पैसा  जमा करने पर आपको बैंक द्वारा कोई ब्याज नहीं दिया जायेगा।
  • करंट अकाउंट को मेन्टेन रखने और आपको अतिरिक्त सुविधा प्रदान करने के लिए बैंक द्वारा आपसे चार्ज लिया जायेगा।

Current account kiske liye hai

करंट अकाउंट का उपयोग छोटे, मध्यम एवं बड़े मुख्यरूप से व्यवसायियों, फर्मों, कंपनियों और सार्वजनिक उद्यमों के लिए लेन-देन की सुविधा के लिए किया जाता है। करंट अकाउंट आम आदमी के लिए नहीं होता है उनके लिए सेविंग अकाउंट खोला जाता है क्योंकि करंट अकाउंट ओपन  करवाने का एक ही मकसद होता है जिनमें कई दैनिक बैंकिंग लेनदेन होते हैं। करंट अकाउंट का मतलब न तो ब्याज कमाने के उद्देश्य से है और न ही बचत के उद्देश्य से, बल्कि बिज़नस की सुविधा के लिए, इसलिए वे गैर-ब्याज  वाले खाते हैं। इस तरह के खाते में पैसा जमा करने या निकालने में दैनिक लिमिट निर्धारित नहीं होती है आप दिन भर में जितना चाहते उतना लेन देन कर सकते है।

Chalu khata ke kya fayde hain

  • करंट अकाउंट सभी व्यावसायिक लेनदेन की अनुमति देता है।
  • करंट अकाउंट में डिमांड ड्राफ्ट सुविधा से पैसा जमा करना और ट्रांसफर कर आसान हो जाता है।
  • कितनी भी बार पैसा निकालने व जमा करने की सुविधा मिलती है।
  • करंट अकाउंट रखने वाले लोगों को बैंक सामान्यत: ओवरड्राफट की सुविधा भी प्रदान करते हैं। खाताधारक की हैसियत के मुताबिक यह कम-ज्यादा हो सकती है।
  • करंट अकाउंट इंटरनेट बैंकिंग एंड मोबाइल बैंकिंग जैसे कई फैसिलिटीज भी प्रोवाइड करता है|
  • करंट अकाउंट धारकों को उनकी मांग के आधार पर बैंक, लेन-देन के स्टेटमेंट की सुविधा भी उपलब्ध कराता है।
  •  करंट अकाउंट में अधिक बार लेन देन करने के लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ता है।

Chalu khata ke kya nuksan hain

ब्याज ना मिलना

करंट अकाउंट खुलवाने पर सबसे बड़ा यही नुकसान मान सकते है की करंट अकाउंट में आप चाहे जितना पैसा जमा करें उसके लिए आपको बैंक कोई ब्याज नहीं देगा। जबकि बचत खाता में जमा पैसों पर बैंक 4 सेे 6 प्रतिशत तक ब्याज भी अदा करते हैं इसके अलावा भी बैंक आपके खाते को मेन्टेन करने के लिए अलग से चार्ज भी लगाती है जिसको करंट अकाउंट खाताधारक को भुगतान करना ही होता है

मिनिमम अकाउंट बैलेंस मेंटेन करना (करंट अकाउंट मिनिमम बैलेंस)

करंट अकाउंट में खाताधारक को एक निश्चित मात्रा में रकम जमा रखना जरूरी होता है। अलग-अलग बैंकों के हिसाब से यह 3 हजार,  5, हजार, 10 हजार या 15 हजार या इससे अधिक भी हो सकती है। अगर आप ऐसा नहीं कर पाते हैं यानी जरूरी तिमाही औसत बैलेंस रख पाने में असफल रहते हैं तो उसका चार्ज भी कटता है। वह हर बैंक अलग अलग पेनाल्टी शुल्क निर्धारित करता है अकाउंट से पैसा निकालने के लिए चेकों का प्रयोग किया जाता है। बैंक एक निश्चित सीमा में ही फ्री चेक बुक जारी करते हैं, इससे अधिक संख्या में चेकों का प्रयोग करने पर हर चेक के लिए भी आपसे कुछ चार्ज लिया जा सकता है।

इस लेख में आपने सीखा Current account kya hai और Current account meaning in hindi हमें उम्मीद है ये जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.