Your connection to content site is not secure 

Your connection to this site is not secure यह बहुत ही कॉमन समस्या है जो अक्सर लोगों को पेश करनी पड़ती है और लोगों को यह लगता है कि उनके डिवाइस में कुछ गड़बड़ी हो गई है जबकि ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता है क्योंकि ऐसा मुख्य रूप से किसी वेबसाइट में हुई गड़बड़ी की वजह से होता है और यदि आप उस वेबसाइट के एडमिन है तो आपको इस वजह से कभ ज्यादा घबराहट हो सकती है लेकिन आपको घबराने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं क्योंकि बहुत ही कॉमन से ही समस्या है और आप इसे बहुत ही आसानी से दूर कर सकते हैं ।

हालांकि यदि किसी भी साइट पर आपको your connection to this site is not secure देखने को मिल रहा है तो इसके बावजूद भी आप उस जब साइट को खोल सकते हैं लेकिन गूगल क्रोम हमें उस वेबसाइट पर जाने से रोकता है क्योंकि यदि आप उसे साइट का इस्तेमाल करते हैं तो शायद कुछ हद तक आप हैकिंग के शिकार भी बन सकते हैं यही वजह है कि गूगल क्रोम अपने किसी भी यूजर को ऐसी किसी भी वेबसाइट पर जाने की अनुमति नहीं देता है जोकि यूजर्स के लिए सेफ ना हो।

Your connection to this site is not secure क्यों देखने को मिलता है और क्या है

यदि आप एक नॉर्मल इंटरनेट यूजर हैं तो आपको आगे बताई गई चीजें समझ में ना आए क्योंकि यह वेबसाइट के सिक्योरिटी से जुड़ा अहम पहलू होता है लेकिन यदि आप एक वेबसाइट एडमिन है तो आप इसे बहुत ही आसानी से समझ सकते हैं और आपको अपनी वेबसाइट से इस समस्या को जल्द से जल्द दूर करना चाहिए क्योंकि यदि यह समस्या अधिक देर तक बनी रहती है तो आपकी वेबसाइट रैंकिंग पर असर डाल सकती है ।

Your connection to this site is not secure का नोटिफिकेशन मुख्य रूप से तब देखने को मिलता है जब किसी साइट पर एसएसएल यानी कि सिक्योर सॉकेट लेयर नहीं इंप्लीमेंट रहता है या किसी गड़बड़ी की वजह से एसएलएल डिसएबल हो जाता है, जिसके बाद यूजर्स का डाटा हैक होने का डर रहता है क्योंकि एसएलएस सुरक्षा की ऐसी परत होती है जो कि यूजर को विभिन्न प्रकार की मलीशियस अटैक से बचाती है, और जब एसएससीएल उस वेबसाइट पर इंप्लीमेंट नहीं रहता है तो गूगल क्रोम अपने यूजर्स को सूचित करता है कि इस वेबसाइट पर जाना सुरक्षित नहीं है और आपको your connection to this site is not secure का नोटिफिकेशन मिलता है।

लेकिन यदि आप गूगल क्रोम और फायरफॉक्स जैसे बड़े ब्राउज़र्स को छोड़कर किसी छोटे या कम पॉपुलर ब्राउज़र का इस्तेमाल करते हैं तो शायद उसमें आपको your connection to this site is not secure की वार्निंग नहीं मिलेगी क्योंकि ज्यादातर छोटे ब्राउज़र आपकी सुरक्षा पर ध्यान नहीं देते हैं बल्कि वो डायरेक्ट आपको आपके द्वारा खोली गई वेबसाइट पर पहुंचा देते हैं लेकिन हम आपको सुझाव देंगे कि आप गूगल क्रोम ब्राउजर या फायरफॉक्स जैसे बड़े ब्राउज़र्स का इस्तेमाल करें क्योंकि सुरक्षित वेबसाइट पर ही आपको ले जाते हैं और यदि इन ब्राउजर को कोई ऐसी वेबसाइट मिलती है जोकि आपको किसी तरह से नुकसान पहुंचा सकती है तो उससे पहले ही आपको अलर्ट कर देगा कि इस वेबसाइट पर जोखिमभरा हो सकता है।

How to open not secure website in Chrome

हालांकि यदि आपको your connection to this site is not secure का अलर्ट मिलता है तो उसके बाद भी आप उस वेबसाइट को ओपन कर सकते हैं लेकिन डायरेक्टली गूगल क्रोम उसकी एक्सेस रोक देता है लेकिन यदि आप उसके बावजूद भी उसे साइट पर विजिट करना चाहते हैं तो इस तरीके का इस्तेमाल करें

  1. सबसे पहले उस वेबसाइट को अपने गूगल क्रोम ब्राउजर में खोलें
  2. अब आपको अलर्ट मिलेगा your connection to this site is not secure और उसके ठीक नीचे आपको एडवांस का ऑप्शन मिलेगा उस पर क्लिक करें और Proceed to पर क्लिक करें, हालांकि गूगल की नजरों में वह वेबसाइट सेफ नहीं है लेकिन फिर भी यदि आप उस वेबसाइट पर विजिट करना चाहते हैं तो एडवांस के जरिए उसे वेबसाइट तक हो सकते हैं

How do I fix this connection is not secure in Chrome

यदि आप एक यूजर हैं और किसी के साइट पर आपको यह समस्या देखने को मिल रही है तो आप उस समस्या को दूर नहीं कर सकते हैं बल्कि सिर्फ उस वेबसाइट का एडमिन ही इस समस्या को दूर कर सकता है जिसके लिए उस वेबसाइट के एडमिन को अपनी वेबसाइट पर एसएएल एरर को फिक्स करना होगा

Your connection to this site is not secure WordPress

किसी भी वेबसाइट में ऐसे से लेकर आना एक बहुत ही आम समस्या है और बहुत से फ्री एसएसएल प्रोवाइडर मौजूद हैं यदि आपने अभी तक अपनी वेबसाइट पर एसएलएस इंप्लीमेंट नहीं किया है तो अभी किसी एसएलएस को अपनी वेबसाइट पर इंप्लीमेंट करें लेकिन यदि आप पहले से एसएसएल का इस्तेमाल कर रहे थे और अचानक से यह समस्या आपकी जब साइट पर आने लगी है तो इसका मतलब यह है कि किसी वजह से एसएलएस आपकी वेबसाइट से डिस्कनेक्ट हो गया है या डिसएबल हो गया है जिसको आप को फिक्स करना पड़ेगा और फिर यह समस्या ऑटोमेटिक दूर हो जाएगी।

और इस समस्या को दूर करने के लिए आपके पास दो तरीके मौजूद होते हैं पहला तरीका यह होता है कि आप अपनी वेबसाइट पर एसएसएल इंप्लीमेंट करें जो भी आप इसे फ्री में अपनी वेबसाइट पर लागू कर सकते हैं और दूसरा तरीका यह है कि आप अपनी वेबसाइट पर content डिलीवरी नेटवर्क का इस्तेमाल करें और उसके द्वारा प्रोवाइड किए जाने वाला एसएसएल इस्तेमाल करें।

Your connection to this site is not secure Chrome

जी हां यह समस्या आपको मुख्य रूप से गूगल क्रोम ब्राउजर में ही दिखाई देगी क्योंकि यह दुनिया का सबसे ज्यादा सुरक्षित वेब ब्राउज़र है और यह आपको किसी भी ऐसे वेबसाइट पर जाने से रोकता है जो कि इसे सुरक्षा की दृष्टि से कमजोर लगती है

यदि किसी वेबसाइट पर your connection is not secure to this site का एरर है तो क्या करना चाहिए

हर सिचुएशन में आपके पास दो ही रास्ते होते हैं और यहां भी दो ही रास्ते हैं पहला है उस वेबसाइट पर जाने से बचना और दूसरा है उस जब साइट पर विजिट करना, और आपके लिए यह जानना सबसे ज्यादा जरूरी है कि किस कंडीशन में आपको ऐसी वेबसाइट पर विजिट करना चाहिए और कब नहीं विजिट करना चाहिए, और यदि आप विजिट करते हैं तो आपको ऐसी वेबसाइट्स पर क्या नहीं करना चाहिए क्योंकि यदि आपको इसकी सही जानकारी नहीं होगी तो आप हैकिंग के शिकार भी बन सकते हैं ।

  • सबसे पहली चीज तो आपको ऐसी वेबसाइट्स को अवॉइड करना चाहिए जिन पर your connection to this site is not secure की वार्निंग मिलती है
  • लेकिन यदि कोई गवर्नमेंट या कोई ट्रस्टेड वेबसाइट है जिसपर आप भरोसा कर सकते हैं तो आप एडवांस पर क्लिक करके Proceed To पर click करके उस वेबसाइट पर जा सकते हैं
  • और यदि वेबसाइट पर विजिट करते हैं तो जब तक आपको URL bar में https ना दिखाई दे तब तक उसका कोई भी ऐसी जानकारी ना डालें जिसके चोरी होने से आपको नुकसान हो सकता है जैसे की क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड नंबर, पासवर्ड इत्यादि क्योंकि जब आप ऐसे किसी भी साइट विजिट करते हैं जिसमें आप को वार्निंग दी गई होती है कि your connection is not secure to this site लेकिन उसके बावजूद भी आप उस दिन साइट पर जाते हैं तो URL bar में https के बजाय http दिखाएगा और जब https दिखाया जाए तो समझें की वो वेबसाइट सिक्योर है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *