विज्ञापन क्या है, Advertisement meaning in Hindi

वैसे तो ढेरों online विज्ञापन companies मौजूद हैं लेकिन उनमें से अक्सर सभी जगहों पर आपको google के विज्ञापन देखने को मिल जाते हैं क्यूंकि अधिकतर online business run करने वालों की earning का main source विज्ञापन ही होता है हालाँकि paid services भी उनकी earning का source होती हैं लेकिन अधिकतर लोग विज्ञापन के जरिये ही earning करते हैं। Vigyapan kya hai।

सबसे पहले तो बहुत लोगों को विज्ञापन और Add में confusion रहता है तो हम बताना चाहते हैं की इन दोनों में काफी अंतर होता है और जब भी आप google के विज्ञापन देखते हैं तो आपको right top में विज्ञापन लिखा हुवा मिल जाता है जोकि ये इंगित करता है ये content एक विज्ञापन है।

Ad kya hai, What is Advertisement in hindi

 

Ad का full form Advertisement होता है विज्ञापन एक तरह से promotion होता है जिसके जरिये लोग अपने products और services को promote करते हैं जिससे उन्हेने अधिक custumer मिलते हैं और product/service owner उस विज्ञापन के लिए विज्ञापन company को भुगतान करता है।

इस समय tv विज्ञापन के बजाय companies online विज्ञापन पर focus कर रही हैं क्यूंकि online ADvertising अधिक beneficial है और पूरी तरह से ADvertiser के control में रहता है, ADvertiser अपने चलाये गए विज्ञापन का पूरी तरह से विश्लेषण कर पाता है जैसे की उसका विज्ञापन कितनीं  बार दिखाया गया है किस location या interest के लोगों को दिखाया गया है इत्यादि सभी जानकारियां।

हालाँकि google के सभी ADs पर आपको right-top में विज्ञापन लिखा हुवा मिलेगा लेकिन सभी AD companies के ADs के साथ अलग अलग words हो सकते हैं जैसे की facebook के विज्ञापन के साथ आपको विज्ञापन के बजाय Sponsored लिखा हुवा मिलेगा, हालाँकि दोनों का मतलब एक ही है।

यदि आप भी अपना online विज्ञापन चलाना चाहते फिर फिर चाहे google पर या facebook पर तो बहुत easily create कर सकते हैं google विज्ञापन create करने के लिए आप Adword.com पर visit करें और facebook पर विज्ञापन चलाने के लिए facebook विज्ञापन manager पर visit कर  सकते हैं या फिर चाहें तो अपने page पर visit करके direct विज्ञापन चला सकते हैं।

Vigyapan ka mahatva kya hai

विज्ञापन का महत्व किसी कंपनी के उत्पाद या सर्विस को बढ़ावा देना होता है जिससे कि अधिक ग्राहकों तक पहुंचा जा सकता है विज्ञापन में 3 पक्षों का संबंध होता है विज्ञापनदाता प्रकाशक और यूज़र यानी कि पब्लिक

विज्ञापन व्यय या बजट क्या है

किसी पिंड ज्ञापन पर होने वाले कुल खर्च को विज्ञापन दें या विज्ञापन बजट कहते हैं जिससे कि यदि आप इंटरनेट पर किसी विज्ञापन को चलाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको एक निश्चित राशि अदा करनी होगी तो ही आप अपने विज्ञापन को चला पाएंगे, उदाहरण के लिए यदि आप किसी विज्ञापन के लिए हजार रुपए खर्च करते हैं तो उसी के अनुसार आपका विज्ञापन लोगों को दिखाया जाएगा

विज्ञापन का उद्देश्य क्या है

विज्ञापन का मुख्य उद्देश्य अधिक से अधिक ग्राहकों तक पहुंचना होता है और इंटरनेट की वजह से सटीक ग्राहकों तक पहुंचना और भी ज्यादा आसान हो गया है

भ्रामक विज्ञापन क्या होता है

इंटरनेट पर बहुत तरह के विज्ञापन दिखाए जाते हैं जिनमें से बहुत सी वेबसाइट पर ब्राह्मण विज्ञापन आते हैं जो कि आपको विज्ञापन में कुछ और दिखाया जाता है और उसकी हकीकत कुछ और ही होती है और उपयोगकर्ता उस पर क्लिक करके किसी हैकर का शिकार भी बन सकता है, हालांकि सभी एडवरटाइजिंग कंपनियां भ्रामक विज्ञापनों को दूर करने के लिए निरंतर कार्यरत रहती हैं लेकिन फिर भी बहुत से लोग भ्रामक विज्ञापन चलाने में सफल हो जाते हैं जिसका शिकार बहुत से उपयोगकर्ता होते हैं।

Vigyapan ke kya fayde hain

विज्ञापन से तीनों पक्षों को फायदा होता है जिसमें विज्ञापनदाता, प्रकाशक और ग्राहक शामिल हैं एक तरफ विज्ञापनदाता को आसानी से अपनी सर्विस या उत्पाद के लिए ग्राहक मिल जाते हैं तो वही विज्ञापन प्रकाशक कंपनी का विज्ञापनदाता के भुगतान से एडवरटाइजिंग कंपनी की इनकम होती है और विज्ञापन का लाभ ग्राहकों को ही मिलता है क्योंकि कई बार विज्ञापन के जरिए भी कई अच्छी डील ग्राहकों को मिल जाती है

विज्ञापन के क्या सिद्धांत हैं

विज्ञापन के सभी प्रकार के सिद्धांत एडवरटाइजिंग कंपनी द्वारा तय किए जाते हैं और विज्ञापन प्रदर्शन का मुख्य सिद्धांत ग्राहकों को आकर्षित करना होता है जिससे कि विज्ञापनदाता की सर्विस या उत्पादों को अधिक ग्राहक मिल सके

विज्ञापन के माध्यम कौन-कौन से हैं

विज्ञापन के पुराने माध्यमों में मुख्य रूप से रेडियो, टेलीविजन और न्यूज़पेपर शामिल है लेकिन इस समय अधिकतर इंटरनेट विज्ञापन का इस्तेमाल किया जा रहा है क्योंकि इंटरनेट विज्ञापन अधिक प्रभावशाली है जिससे उचित ग्राहक को टारगेट किया जा सकता है और कम से कम खर्च में अधिक ग्राहकों तक पहुंचा जा सकता है, और इंटरनेट पर विभिन्न प्रकार की एडवरटाइजिंग कंपनी इन के माध्यम से दुनिया का कोई भी व्यक्ति विज्ञापन चला सकता है जैसे कि गूगल ऐडसेंस, फेसबुक, media.net, याहू, टि्वटर इत्यादि।

Vigyapan kitne prakar ke hote hain

मुख्य रूप से विज्ञापन चार प्रकार के होते हैं

  • टेक्स्ट विज्ञापन
  • इमेज विज्ञापन
  • वीडियो विज्ञापन
  • ऑडियो विज्ञापन

और इन विज्ञापनों को एक प्रदर्शित करने के लिए विभिन्न प्रकार के स्रोतों का इस्तेमाल किया जाता है जैसे कि टीवी, मोबाइल इंटरनेट, न्यूज़पेपर, वेबसाइट, एप्लीकेशन इत्यादि।

एक आर्टिकल में आपने सीखा vigyapan kya hai और Ad full form in Hindi हमें उम्मीद है ये जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी।