क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में क्या अंतर है, debit card aur credit card me antar

जब भी कभी आप ऑनलाइन लेन-देन की बात करेंगे या इसकी कहीं आपको जरूरत पड़ेगी तो आप मुख्य रूप से दो चीजों को पेश करेंगे जो कि हैं डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड लेकिन आखिरी डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड क्या है आपको यह समझना होगा क्योंकि अभी आप डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड को नहीं समझेंगे तो आपके लिए थोड़ा समस्या हो सकती है क्योंकि काफी ज्यादा लोगों को लगता है कि डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड एक ही है लेकिन इन दोनों में जमीन और आसमान का फर्क है हालांकि दोनों के कार्य करने की प्रिंसिपल एक ही हैं लेकिन उनकी सर्विस एज लिमिट और अमाउंट अलग-अलग होते हैं। Credit card aur debit card me kya antar hai।

Credit card aur debit card me kya antar hai

और दोनों का इस्तेमाल भी कई कई जगहों पर अलग-अलग उद्देश्य से होता है कई जगहों पर ऐसा होता है कि अभी आप पेमेंट करना चाहते हैं तो वहां आपको डेबिट कार्ड का ऑप्शन मिलेगा ही नहीं आपको सिर्फ क्रेडिट कार्ड का ऑप्शन मिलेगा तो ऐसे में यदि आपके पास क्रेडिट कार्ड नहीं है तो आप उस सर्विस का इस्तेमाल भी नहीं कर पाएंगे और यदि आप अमेजॉन फ्लिपकार्ट पर कई सारे ऑफर से देखते होंगे तो वह मैं आपको कई जगह दिखाया जाता होगा कि कुछ बैंकों के क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने से आपको काफी ज्यादा डिस्काउंट भी मिलता है चलिए सबसे पहले यह जान लेते हैं कि डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में क्या अंतर है।

Credit card aur debit card kaise dikhte hain

यदि क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के लुक में अंतर की बात की जाए तो इनमें कोई भी फर्क नहीं होता है डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड देखने में एक जैसे होते हैं और उनके थिकनेस लंबाई चौड़ाई सब कुछ एक समान होती है आप डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड दोनों का इस्तेमाल सभी एटीएम मशीनों में कर सकते हैं।

और बाकी के क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड के मुख्य अंतर कुछ इस प्रकार हैं

Debit card kya hai

  • डेबिट कार्ड कई प्रकार के होते हैं जैसे कि रुपए कार्ड मास्टरकार्ड वीजा कार्ड इत्यादि
  • डेबिट कार्ड को एटीएम कार्ड के नाम से भी जाना जाता है आप चाहे इसे एटीएम कार्ड कहें या डेबिट कार्ड दोनों एक ही बात होती है
  • जब आप अपना बैंक अकाउंट तो खोलो आते हैं तो उसी वक्त आपके लिए डेबिट कार्ड भी अप्लाई कर दिया जाता है और यदि आपका एटीएम कार्ड एक्सपायर हो जाता है तो आप हो ना नए एटीएम कार्ड के लिए अप्लाई करवा सकते हैं और यदि नहीं है आपके पास तो कभी भी नया एटीएम बनवा सकते हैं
  • एटीएम कार्ड में पैसे की कोई लिमिट नहीं होती है आपके बैंक अकाउंट में जितना बैलेंस होगा आप निकाल सकते हैं लेकिन सिर्फ उतना ही निकाल सकते हैं जितना कि आपके बैंक अकाउंट में है जिससे एक भी रुपया अधिक आपको नहीं मिलेगा
  • एटीएम कार्ड के जरिए आप यूपीआई या बैलट अकाउंट भी क्रिएट कर सकते हैं जैसे कि गूगल पर फोन पर इत्यादि और डेबिट कार्ड से अकाउंट बनाने पर यूपीआई के जरिए आपके बैंक अकाउंट से ही लेनदेन किया जाता है
  • डेबिट कार्ड सिर्फ बैंक ही जारी करते हैं जिस बैंक में आप अपना अकाउंट खुलवाते हैं

Credit card kya hai

  • आपको बैंक अकाउंट खुलवाने पर क्रेडिट कार्ड नहीं मिलता है क्योंकि क्रेडिट कार्ड का बैंक अकाउंट से किसी भी तरह का संबंध नहीं होता है आपके पास उस बैंक में अकाउंट हो या ना हो लेकिन यदि आप क्रेडिट कार्ड लेने योग्य हैं तो आपको क्रेडिट कार्ड मिल सकता है
  • क्रेडिट कार्ड में आपको उस बैंक द्वारा एक फिक्स अमाउंट दिया जाता है वह भी आपकी स्थिति के अनुसार जो कि एक तरह से लोन के रूप में होता है
  • क्रेडिट कार्ड किसी एक फिक्स अमाउंट का बनाया जाता है यदि आपकी योग्यता कितनी है कि आपको 50000 का क्रेडिट कार्ड दिया जा सकता है तो बैंक आपको 50000 का क्रेडिट कार्ड देगी
  • क्रेडिट कार्ड हर किसी को नहीं दिया जाता है क्योंकि यह एक तरह से लोन होता है और क्रेडिट कार्ड जारी करने से पहले उस व्यक्ति की इनकम और बैकग्राउंड को देखा जाता है कि वह व्यक्ति क्या इस योग्य है कि उसको क्रेडिट कार्ड दिया जाए या ना दिया जाए
  • हालांकि क्रेडिट कार्ड पर अमाउंट दिया जाता है लेकिन वह आपको पूरी तरह से नहीं सौंपा जाता है बल्कि वह आपको रेड के तौर पर दिया जाता है और आप अपनी मनमर्जी से उसको जहां चाय खर्च कर सकते हैं लेकिन आपको उसे पुनः भरना भी होगा और यदि आप समय पर उसे नहीं भरते हैं तो वह क्रेडिट कार्ड कंपनी/बैंक आप पर ब्याज लगाएगी
  • क्रेडिट कार्ड लेने के लिए यह नहीं जरूरी होता है कि कोई बैंक ही हो बल्कि अन्य फाइनेंस कंपनियां भी आपको क्रेडिट कार्ड दे देंगी
  • क्रेडिट कार्ड का फायदा आपको कई जगहों पर मिल सकता है जैसे कि ऑनलाइन शॉपिंग या अन्य वेब सर्विसेज में क्योंकि कई जगहों पर यदि क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल किया जाता है तो वहां काफी छूट मिल जाती है और कई जगहों पर पेमेंट के लिए सिर्फ क्रेडिट कार्ड ऑप्शन ही मौजूद होता है

मुझे क्या लेना चाहिए क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड

वैसे तो आप कुछ भी ले सकते हैं डेबिट कार्ड ले या क्रेडिट कार्ड लेकिन आपको यह लेने से पहले आपको अपनी जरूरतों के बारे में देखना चाहिए कि आपको जरूरत किस चीज की है क्योंकि अभी आपको क्रेडिट कार्ड की जरूरत नहीं है तो आपको क्रेडिट कार्ड के लिए परेशान नहीं होना चाहिए क्योंकि क्रेडिट कार्ड देने में आपको थोड़ा टाइम भी लगेगा क्योंकि जब आप क्रेडिट कार्ड देना चाहेंगे तो आपको बैंक या फाइनेंस कंपनी से कांटेक्ट करना होगा और कई तरह के वेरिफिकेशन कंप्लीट करने होंगे।

और आपको अपना स्टेटमेंट दिखाना होगा कि आपकी इनकम कितनी है, यदि आपको क्रेडिट कार्ड दे दिया जाता है तो अमाउंट खत्म करने के बाद क्या आप उसे भर भी पाएंगे या नहीं, माना कि यदि आप क्रेडिट कार्ड लेते हैं तो आपको कई जगहों पर इससे फायदा हो सकता है क्योंकि आपको कई जगहों पर डिस्काउंट मिल सकता है लेकिन ऐसा जरूरी नहीं है कि आप जिस बैंक का क्रेडिट कार्ड लेते हैं उसी बैंक पर डिस्काउंट मिले जी हां आपके लिए एक नेगेटिव पॉइंट हो सकता है।

जैसे कि यदि आप मान लीजिए लेते हैं आईसीआईसीआई बैंक का क्रेडिट कार्ड और आप अमेज़न पर कोई प्रोडक्ट बाय करना चाहते हैं और उसमें आपको उस प्रोडक्ट पर डिस्काउंट मिल रहा है लेकिन हो सकता है कि वह किसी दूसरी बैंक के क्रेडिट कार्ड पर डिस्काउंट दे रहा हूं जैसे कि axis, एचडीएफसी इत्यादि तो उससे भी आपको कोई फायदा नहीं होगा।

तो इस बारे में हमारे यह कहना है कि यदि आपकी इनकम अच्छी खासी है तो आप ले सकते हैं क्योंकि आप के लिए क्रेडिट कार्ड देना काफी ज्यादा छोटी बात होगी लेकिन यदि आपकी इनकम बहुत ज्यादा अच्छी नहीं है आपकी परिस्थितियां बहुत अच्छी नहीं है तो आपको क्रेडिट कार्ड के बारे में नहीं सोचना चाहिए क्योंकि यह आपके लिए और बड़ी समस्या हो सकती है हो सकता है कि आप अपना क्रेडिट अमाउंट खत्म करने के बाद उसे भर भी ना पाए उस पर ब्याज पड़ने लगी तो भी आपके लिए समस्या हो सकती है।

और जहां तक बात है ऑनलाइन लेनदेन की ऑनलाइन पेमेंट की और मोबाइल रिचार्ज की वगैरह वगैरह जो कुछ भी है तो आप डेबिट कार्ड के जरिए कर सकते हैं बहुत ही आसानी से, जो कि आप गूगल पर फोन पर पेटीएम इत्यादि से कर सकते हैं और अभी अभी आपके पास एटीएम कार्ड है तो आप बहुत ही आसानी से अपना गूगल पर फोन पर अकाउंट बना सकते हैं और सभी प्रकार के ऑनलाइन ट्रांजैक्शन ऑनलाइन पेमेंट कर सकते हैं और यदि जरूरत पड़ती है तो आप डायरेक्ट एटीएम यानी कि डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करके भी पेमेंट कर सकते हैं।

तो आपको ऊपर यह पूरी जानकारी मिल गई है कि क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में क्या अंतर है और हम आपको यह भी जानकारी दे चुके हैं कि इन दोनों में आपके लिए क्या उचित है हां लेकिन यदि आपको बहुत अत्यधिक जरूरत है तो आप बेझिझक क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं जिस पर आपको लोन के तौर पर कुछ अमाउंट मिल जाएगा लेकिन यदि आपको बहुत ही अर्जेंट नहीं है तो क्रेडिट कार्ड ना ही ले क्योंकि हो सकता है कि यह आपकी समस्याओं को बढ़ा दे।

Credit card kaise Banta hai

क्रेडिट कार्ड के लिए आपको किसी बैंक से संपर्क करना होगा और बैंक आपके फाइनेंसियल डाटा को देखते हुए ही आपके लिए क्रेडिट कार्ड जारी करेगी हो सकता है कि आपको क्रेडिट कार्ड देने से मना भी कर दें लेकिन यदि आप 15000+ महीने की सैलरी पाते हैं तो चांसेस है कि आपको क्रेडिट कार्ड मिल जाएगा।

Debit card kaise Banta hai

डेबिट कार्ड को आप को बनवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी बल्कि जब आप बैंक अकाउंट खुलवा आएंगे तो उसी वक्त आपके लिए डेबिट कार्ड भी अप्लाई कर दिया जाता है और कुछ दिनों बाद आपको अपना डेबिट कार्ड मिल जाएगा लेकिन यदि आपके पास debit card नहीं है तो इसके लिए आपको अपने बैंक जाना होगा जहां पर आपका अकाउंट होगा और उन्हें एक एप्लीकेशन लिख कर देना होगा जिसमें आपको बताना होगा कि आपको डेबिट कार्ड की जरूरत है और एप्लीकेशन देने के बाद 20 – 25 दिन में आपको डेबिट कार्ड मिल जाएगा।

एक आर्टिकल में आपने सीखा Debit card aur credit card me kya antar hai और Difference between credit card and debit Card हमें उम्मीद है ये जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी।