एसी क्या है, AC full form in Hindi

AC का Full form Air conditioner होता है एयर कंडीशनर एक ऐसा equipment है जोकि वातानुकूलन के काम आता है गर्मियों के समय में तापमान में अधिक बढ़ोतरी की वजह से एयर कंडीशनर का इस्तेमाल किया जाता है जिससे उस room का तापमान जिसमें AC set किया गया होता है उसका temprature काफी कम हो जाता है। AC kya hai।

Air conditioner kya hai

एयर कंडीशनर का अविष्कार Willims Haviland Carrier नें 1902 में किया था लेकिन एयर कंडीशनर के अविष्कार के बाद तुरंत ही एयर कंडीशनर market में नहीं उतारा गया क्यूंकि willims haviland carrier में एयर कंडीशनर का इस्तेमाल bussiness purpose से नहीं किया था

बल्कि willims ने एयर कंडीशनर का अविष्कार individual company के temprature और humidity को control करनें के लिए बनाया था, जबकि एयर कंडीशनर को 1933 मे।

एयर कंडीशनर वातानुकूलन का काम करती है जिससे की किसी भी high temprature वाले स्थान का temprature काफी ज्यादा कम किया जा सकता है AC का इस्तेमाल कुछ जगहों पर ज्यादा होता है जैसे की

Cinema hall, shops, show room, cars, almost सभी तरह के stores, shops, companies में इस्तेमाल किया जाता है जिससे की वहां का temprature वातानुकूलित रहता है।

room को कितना ठंढा रखना है हम एयर कंडीशनर में set कर सकते हैं और एयर कंडीशनर उस room का temprature एक समान बनाये रखेगा।

वैसे तो गर्मियों से निजात पाने के लिए और भी बहुत सारे equipments use किये जाते हैं जैसे की cooler, fan इत्यादि लेकिन सबसे कारगर एयर कंडीशनर होता है क्यूंकि एयर कंडीशनर इन सबसे अलग काम करता।

क्यूंकि जब आप fan या cooler use करते हैं तो काफी ज्यादा noise होता है और fan से हवा उस स्थान के temprature के हिसाब से ही रहती है यदि वो स्थान गर्म है तो ठंडी हवा की उम्मीद ना करें।

लेकिन एयर कंडीशनर इनसे बिलकुल अलग है यदि आप एयर कंडीशनर use करते हैं तो आपको noise का सामना भी नहीं करना पड़ेगा और आपका room भी पूरी तरह से ठंढा रहेगा।

एयर कंडीशनर का इस्तेमाल

एयर कंडीशनर का इस्तेमाल तो मुख्यतः गर्मियों में room को ठंढा करनें के लिए किया जाता है लेकिन एयर कंडीशनर और भी बहुत से उद्देश्यों से इस्तेमाल किया जाता है जैसे की computer offices में computer को ठंढा करनें के लिए, servers को ठंढा रखनें के लिए बहुत सी companies में विभिन्न तरह के equipments को ठंढा रखनें के लिए AC का इस्तेमाल होता है।

और साथ ही बहुत से खाद्य पदार्थों को भी ठंढा रखनें के लिए एयर कंडीशनर का इस्तेमाल होता है क्यूंकि अधिकतर खाद्य पदार्थ बहुत जल्दी ख़राब होनें लगते हैं और उन खाद्य पदार्थों को लम्बे समय तक सुरक्षित रखनें के लिए AC का इस्तेमाल किया जाता है।

हालाँकि जहाँ तक बात है घरों में खाद्य पदार्थों को सुरक्षित रखनें के लिए तो हम freeze का इस्तेमाल करते हैं लेकिन बड़े खाद्य पदार्थ के stores में एयर कंडीशनर का use होता है।

इस time की लगभग सभी cars में भी available रहता है जिससे की गर्मियों में car users को बहुत सहूलियत मिलती है, ट्रेनों में भी एयर कंडीशनर मौजूद होती है यदि आप गर्मियों के समय में ट्रेन से यात्रा करते हैं तो एयर कंडीशनर coach आपके लिए एक best option साबित हो सकता है।

एयर कंडीशनर के parts

वैसे तो एयर कंडीशनर के बहुत से parts होते हैं जैसे की refrigerant, evaporator coil, expansion valve, condenser coil, Fan, compressor, इत्यादि, लेकिन ये सभी AC के internal part होते हैं जिनमें हमें कोई changes या छेडखानीं करनें की जरुरत नहीं पड़ती है।

लेकिन एयर कंडीशनर के कुछ external part होते हैं जिन्हें attatch करनें के बाद एक complete AC तैयार होता है और आपके rooms के temprature को कम करता है।

Condenser unit

condener unit एयर कंडीशनर का बाहरी हिस्सा होता है जो AC के प्रकार के आधार पर छत पर या window या घर के बाहर रखा जाता है

Indoor unit

एयर कंडीशनर का indoor unit – ये unit cooling का काम करता है जोकि घर के अंदर उस location पर install किया जाता है जिस कमरे को cool करना होता है

Duct

Duct के जरिए Indoor और outdoor दोनों equipments को एक दूसरे से connect किया जाता है जिससे की एक complete एयर कंडीशनर बनकर ready होता है

AC kitne prakar ke hote hain

वैसे तो एयर कंडीशनर कई प्रकार के होते हैं लेकिन most people सिर्फ room air conditioner के बारे में जानते हैं क्यूंकि most places पर इसी का इस्तेमाल होता है और यदि आपको सिर्फ इसी एक type के AC के बारे में पता है बाकी के बारे में नहीं तो कोई बात नहीं, ये रहे सभी types के एयर कंडीशनर की list और उनके बारे में कुछ जानकारियां

विंडो एसी

window एयर कंडीशनर एक बहुत ही ज्यादा इस्तेमाल किया जानें वाला एयर कंडीशनर है आपको लगभग हर जगह घरों में दुकानों में window AC देखने को मिल जयेगा, window एयर कंडीशनर काफी ज्यादा confertable होता है easy to install होता है और इसके सभी parts एक साथ attatched होते हैं।

इस एयर कंडीशनर में किसी extra duct की जरुरत नहीं होती है क्यूंकि इस एयर कंडीशनर में दोनों indoor और outdoor equipments एक साथ attatched होते हैं इसलिए इस एयर कंडीशनर को ऐसे location पर install किया जाता है ताकि इसका indoor हिस्सा घर के अंदर की तरफ हो और outdoor unit घर के बाहर हो।

यदि आप चाहें तो घर के बनते वक्त इस एयर कंडीशनर के बारे में plan कर सकते हैं या फिर चाहें तो इसे अपनीं window में set करवा सकते हैं, लेकिन इसके installation के लिए आपको अपनी window को modify करना पड़ेगा।

यदि आप window एयर कंडीशनर use करेंगे तो आपको थोड़ा noise problem हो सकती है क्यूंकि इस एयर कंडीशनर में outdoor unit बहुत करीब होता है

स्प्लिट एसी

Split air conditioner भी काफी ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला एयर कंडीशनर है split एयर कंडीशनर में indoor unit और outdoor unit दोनों दूर दूर install किये जाते हैं

indoor unit room के अंदर और outdoor unit छत पर या घर के बाहर install किये जाते हैं, जिसका बहुत अधिक फायदा होता है, split एयर कंडीशनर में बहुत अधिक cleaning होती है क्यूंकि इस एयर कंडीशनर को wall पर कहीं mount कर दिया जाता है और बहुत space भी नहीं लेता है।

जिससे की room काफी ज्यादा attracting भी लगता है और इसका outdoor unit room से काफी दूर होता है इसलिए कमरे में बहुत शांति होती है, बिलुकल शांति के साथ आपका room cool रहता है।

Duct के जरिये ही एयर कंडीशनर के indoor और outdoor units एक दूसरे से connected रहते हैं और एक complete एयर कंडीशनर बनते हैं, duct के installation के लिए शायद आपको थोड़ी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

heat pump

heat pump काफी best option है क्यूंकि ये AC आपको आपकी इच्छानुसार ठंढ और गर्म दोनों provide कर सकते हैं heat pump का इस्तेमाल आप ठंढियों के दिनों में घर को गर्म करनें के लिए कर सकते हैं और गर्मियों के दिनों में room को cool करनें के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

यानीं की हर मौसम के लिए heat pump best है हालाँकि mostly लोग window या split एयर कंडीशनर का ही इस्तेमाल करते हैं, लेकिन जाहिर सी बात है की quality better है तो price भी अधिक होगा, लेकिन यदि आपका budget अच्छा हो तो आप heat pump के installation के बारे में भी विचार कर सकते हैं।

पोर्टेबल एसी

पोर्टेबल एसी उस condition में आपके लिए better रहेगा जब आप अपनें घर पर ना रहते हों बल्कि किराये के room पर रहते हैं और वहां पहले से एयर कंडीशनर installed ना हो, क्यूंकि portable एयर कंडीशनर का installation काफी आसान होता है।

portable एयर कंडीशनर है तो इसका मतलब ये नहीं है की इसमें अधिक power नहीं होगी बल्कि इसमें भी normal AC की तरह same power होगी लेकिन portable AC की सबसे बड़ी खासियत इसकी portability है।

क्यूंकि इस एयर कंडीशनर को जब चाहें जिस room में install कर सकते हैं और portable एयर कंडीशनर के लिए आपक कोई तोड़ फोड़ करनें की भी जरुरत नहीं पड़ेगी, जैसा की आपको split एयर कंडीशनर के duct के लिए करना पड़ता है, और यदि window AC use करते हैं window को crash करना पड़ता है।

और window/split एयर कंडीशनर के लिए आपको installation guide की जरुरत पड़ेगी या फिर installation engineer/Mechanic को बुलाना पड़ेगा, लेकिन portable AC को install करनें की कोई विशेष process नहीं है।

portable AC को आपको सिर्फ रख दें और duct (Pipe) को attatch करके घर से बाहर की तरह निकलना होता है फिर चाहे window से करें या wall में भी space करवा सकता है जिसके लिए इसका duct बहुत ही कम space लेता है।

portable AC में outdoor unit और indoor unit दोनों एक साथ attatch होते हैं बस हमें outdoor unit में duct को attatch करना होता है ताकि heat को बाहर निकाला जा सके उसके बाद आप AC को start कर सकते हैं।

इन्वर्टर एसी

inverter AC कई तरह से normal AC से better माना जाता है क्यूंकि inverter AC usual AC से ज्यादा better काम करते हैं, inverter AC का name सुनते ही अधिकतर लोग सोचते हैं की ये inverter से चलनें वाला एयर कंडीशनर है।

जिसे हम बिना electricity के भी चला सकते हैं अपने inverter के जरिये लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है क्यूंकि इस एयर कंडीशनर का name सिर्फ inverter AC है बाकी inverter एयर कंडीशनर भी electricity से ही चलता है।

यदि आप inverter एयर कंडीशनर सिर्फ ये सोचकर खरीदनें का plan बना रहे हैं की आप उसे अपनें inverter से चला पाएंगे तो रुक जाइये क्यूंकि आप उसे inverter से नहीं चला पाएंगे।

लेकिन अब आप सोचेंगे की जब ये एयर कंडीशनर inverter से नहीं चलता है तो इसका name inverter एयर कंडीशनर क्यों है तो इसका एक बड़ा reason है और वो है inverter AC की processing, इसके कार्य करनें की प्रणाली।

Inverter AC kaise kaam karta hai

सबसे पहली चीज तो inverter एयर कंडीशनर window unit में available नहीं है यानीं की inverter AC आपको split unit में मिलेंगे

normal एयर कंडीशनर में जब आप एक temprature set कर देते हैं तो उस temprature तक पहुंचनें के बाद एयर कंडीशनर बंद हो जाता है और temprature में बढ़ोत्तरी होनें पर एयर कंडीशनर पुनः काम करना start कर देता है और लगातार यही process चलती रहती है जिससे की room का temprature maintain नहीं रहता है।

बल्कि एयर कंडीशनर की इस process से temprature में उतार चढ़ाव बना रहता है और यही वजह है की normal ac, inverter AC के मुकाबले ज्यादा noise करता है।

लेकिन यदि बात हो inverter एयर कंडीशनर की तो ये एयर कंडीशनर लगातार काम करता है ये एयर कंडीशनर बंद नहीं होता है बल्कि temprature आपके set किये गए limit तक पहुंचनें के बाद inverter AC बंद होनें के बजाय थोड़ा slow process करता है जिससे की noise भी कम होता है और temprature भी maintain रहता है।

inverter ac, normal एयर कंडीशनर की तरह set किये गए temprature पर पहुंचने के बाद बंद नहीं होता है, यानीं की inverter एयर कंडीशनर बिलकुल inverter सिद्धांत पर कार्य करता है इसीलिए इसे inverter AC कहा जाता है।

लेकिन यदि अभी तक आप ये सोच रहे थे की inverter एयर कंडीशनर inverter से चलता है तो आप गलत थे, normal AC और inverter एयर कंडीशनर दोनों electricity से ही चलेंगे।

हालाँकि इन्हें inverter से भी चलाया जा सकता है लेकिन इसके लिए अधिक बड़े inverter की जरुरत पड़ेगी क्यूंकि usually use होनें वाले inverter के जरिये हम एयर कंडीशनर नहीं चला सकते हैं फिर चाहे वो कोई भी एयर कंडीशनर हो।

जब ये एयर कंडीशनर inverter से नहीं चलता है तो इसे inverter एयर कंडीशनर क्यों कहा जाता है

क्यंकि inverter ac, inverter की तरह लगातार चलते रहते हैं और temprature maintain रखते हैं जोकि normal AC नहीं कर पाते हैं

मुझे कौन सा एयर कंडीशनर खरीदना चाहिए

वैसे तो हम आपको ऊपर सभी एयर कंडीशनर के बारे में बता चुके हैं जिससे की आप खुद तय कर सकते हैं की आपको कौन सा एयर कंडीशनर खरीदना चाहिए, आपके लिए कौन सा एयर कंडीशनर best रहेगा।

लेकिन कौन सा एयर कंडीशनर आपके लिए best होगा ये कई बातों पर depend करता है जैसे की आप उसका इस्तेमाल सिर्फ room cooling के लिए करना चाहते हैं या फिर मौसम के परिवर्तन के साथ room heating के लिए भी।

एयर कंडीशनर buy करनें  का आपका budget कितना है, आप कितनीं cooling चाहते हैं इत्यादि।

वैसे तो अधिकतर split या window एयर कंडीशनर का इस्तेमाल किया जाता है, definitely आप भी अपनें लिए इसी में से किसी एक को choose करेंगे, और inverter AC का भी बहुत use किया जाता है यहाँ तक की inverter ac, normal split AC और window AC से better होता है इसलिए यदि आप चाहें तो inverter AC भी choose कर सकते हैं।

हर कोई गर्मियों में एक better वातावरण के लिए AC use करता है लेकिन यदि आपका budget अच्छा है तो आप सिर्फ गर्मियों के लिए ही नहीं बल्कि ठंढियों के लिए भी plan कर सकते  हैं जिसके लिए आप heat pump acpurchase कर सकते हैं।

एयर कंडीशनर की एक सबसे महत्वपूर्ण बात जोकि है ton।

AC ton kya hai

सभी चीजों को मापने के लिए एक unit बनाया जाता है और उसी base पर उसे मापा जाता है और ton को तो आप जानते ही हैं की ton वजन मापने के लिए होता है और आपको पता होगा की 1 ton में 907.185 kg होते हैं।

डरिये मत ये 1 ton की एयर कंडीशनर का वजन नहीं है बल्कि ये एयर कंडीशनर की power होती है, 1 ton की AC का मतलब होता है की ये एयर कंडीशनर उतना ही cooling दे पायेगा जितना की 1 ton बर्फ (907.185 Kg) cooling provide कर सकती है।

ton से सिर्फ एयर कंडीशनर की power measure की जाती है, और आप जितना अधिक ton का एयर कंडीशनर खरीदेंगे आपका एयर कंडीशनर उतना ही अधिक cooling provide कर पायेगा, और यदि आप एयर कंडीशनर खरीदनें जा रहे हैं तो आपको एयर कंडीशनर की power के बारे में पता होना चाहिए जिससे की आप तय कर पाएं की आपको कौन सा एयर कंडीशनर buy करना चाहिए।

आपको कौन सा एयर कंडीशनर buy करना चाहिए ये depend करता है आपके घर, room, shop या जिस भी location में आप set करना चाहते हैं, तो यदि आप किसी ऐसे room में एयर कंडीशनर set करना चाहते हैं जोकि 100 square feet का है तो 1 ton का AC perfect रहेगा।

1 ton का एयर कंडीशनर एक 100 square feet के room को perfectly cooling provide कर सकता है, हालाँकि आप चाहें तो 1 ton की एयर कंडीशनर को बड़े rooms में भी इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन ये एयर कंडीशनर उस room को बहुत अच्छे से cool नहीं कर पायेगा।

इसलिए यदि आपका room 200 square feet का है तो आप 2 ton एयर कंडीशनर buy कर सकते हैं, ठीक इसी तरह से बड़े location के लिए आप ton को बढ़ा सकते हैं,, जितने बड़े location के लिये एयर कंडीशनर buy करना चाहते हैं एयर कंडीशनर की power (Ton) भी उतना ही अधिक होना चाहिए।

जैसे की यदि आपको 500 square feet के location पर एयर कंडीशनर install करना चाहते हैं तो आप 5 ton का AC purchase कर सकते हैं, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है की ये necessary है।

बल्कि ये power निर्धारित करती है उसकी कैपेसिटी, लेकिन यदि आप चाहें तो 500 square feet के room/hall में low ton का भी एयर कंडीशनर use कर सकते हैं लेकिन एयर कंडीशनर उस room को best cooling provide नहीं कर पायेगा, but don’t worry बाहर के temprature से अंदर का temprature काफी better रहेगा।

इस लेख में आपने सीखा AC kya hai और AC full form in Hindi हमें उम्मीद है कि ये जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी।