कोरोना की तीसरी लहर

कोरोना की तीसरी लहर, कुछ समय से लोगों के बीच कोरोना की तीसरी लहरको लेके काफी चर्चा हो रही है और लोगों के बीच काफी अफरा तफरी भी है तीसरी लहर को लेके, क्योंकि जैसा की आप सभी को पता ही है की जब कोरोना सुरु हुआ था तो उस समय से लेके पहली लहर और दूसरी लहर का समय लोगों के लिए बहुत मुश्किल और संकटों भरा था और बहुत से लोगों के परिवार इसकी वजह से वेघर हो गए थे, कोरोना की तीसरी लहर।

बड़ी बड़ी कम्पनिया भी बंद होने की कगार पर आ गयी थी और कुछ तो बंद भी हो गई थी और कंपनियों के बंद होने से या लोकडाउन लग जाने से कामों में रुकावट की वजह से लोगों के साथ साथ बड़े बड़े देश की अर्थववस्था भी ख़राब हो गयी थी तो इन्हीं सब चीजों को देखते हुए लोगों के बेच काफी डर है , और कोरोना की तीसरी लहर को लेके काफी दर में और doubt में है, क्योंकि तीसरी लहर के बारे में कोई सटीक जानकारी नहीं मिल पा रही है तो अगर आप जानना चाहते है तीसरी लहर के बारे में तो आज हम इस article के माध्यम से तीसरी लहर के बारे में की ये क्या है इसमें होने वाली सम्भावनाये क्या है, और अगर तीसरी लहर आयी तो उस time पर अपने बचाव के लिए क्या करे, और अब तक के पहली और दूसरी लहर के मुकालबे इसका क्या प्रभाव रहने वाला है। तो अगर आप इन सभी बातों को जानने में रूचि रखते है तो आप इस article में सारी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

कोरोना तीसरी लहर

दोस्तों अगर मै तीसरी लहर की बात करे तो मै आपको बताना चाहूंगा की जब भी कोई महामारी आती है तो वो  कई पार्ट में आती है पार्ट से मेरा मतलब है की पहले आएगी और फिर वो थोड़ा कम हो जायगी और कुछ समय तक उसका प्रभाव कम रहगा और फिर दोबारा से वो तेजी से आएगी और कुछ समय तक उसमे तेजी रहेगी और फिर उसका प्रभाव थोड़ा थोड़ा कम होगा और कुछ समय तक वो कम रहेगा लेकिन कुछ time में बाद उसके फ़ैलाने में फिर से तेजी आएगी, और इसी तरह से कई सालों तक चाहलता रहता है।

और अगर इतिहास की बात करे तो अब तक जितनी भी महामारी आयी है उनमे ज्यादा से ज्यादा पांच चरण मतलब पांचवी लहर तक देखा गया है, अब इसका मतलब ये नहीं है सभी महामारियों में पांच लहर होती है तो इस कोरोना वायरस में भी पांच लहर होगी, पहले जो भी महामारियाँ आयी थी तो उस time में साधनो की कमी होने की वजह से उसके रोक थाम में देश सक्षम नहीं हुआ करते थे।

लेकिन जसा की आपको पता ही है पहले के तुलना में आज के समय में अधीक से अधिक साधन और जानकारिया हो चुकी है इस वजह से इनमे उम्मीद है की तीसरी लहर के बाद इस पर काफी हद तक नियंत्रण पा लिया जायेगा, तो

कोरोना तीसरी लहर की संभावनाएं

अगर मै भारत देश में कोरोना के तीसरी लहर या wave की बात करूँ तो जैसा की आप सभी को अब तक यही देखने को मिला होगा की जब भी अपने भारत देश में कोरोना वायरस की पहली और दूसरी लहर आयी थी तो उससे पहले बाकी की कुछ देशों में पहले से ही संक्रमण फैलता हुआ देखा गया था जिसमे की अमेरिका, चीन, यूरोप, ब्राजील, स्पेन आदि शामिल है।

तो अगर इस हिसाब देखा जाय तो जैसा की सूत्रों के अनुसार भी पता चल रहा है की कुछ देशो में कोरोना वायरस की तीसरी लहर की शुरुआत हो गयी है, और कुछ देशों में काफी हद तक इसका संक्रमण फ़ैल चूका है, और जहा जहा पर तीसरी लहर चल रही है उस डेटा के हिसाब से डॉक्टरो और बैज्ञानिको का ये मानना है की इस बार का कोरोना वायरस का संक्रमण यानि की तीसरी लहर में बच्चों पर इसका खरता ज्यादा देखने को मिला है।

हलाकि जितनी तेजी से और जितने ज्यादा बच्चो पर इसका संक्रमण होता है, अब तक यही देखा गया है की इसका reacovry रेट भी अच्छा है, मतलब इसमें लोगो ज्यादा ठीक हो रहे है, और अगर मै बात करू की भारत में तीसरी लहर कब तक आएगी तो डॉक्टरों और शोधकर्ताओं का ये मानना  है की  वर्ष 2021 के अंत के महीनो में भारत में कोरोना वायरस की तीसरी लहर आने की उम्मीद पायी जा रही है, मतलब की साल में अंत के महीने अक्टूबर या नवम्बर में।

और अगर इसके फ़ैलाने की बात करे तो डॉक्टरों का ये मानना है की अगर भारत देश के प्रत्येक राज्य में वैक्सीनेशन अच्छे से और तेजी से हुआ तो इस तीसरी लहर का खतरा पहली और दूसरी लहर की तुलना में कम होगा क्योंकि तब तक हमारे शरीर के अंदर कोरोना वायरस से लड़ने के लिए रोगप्रतिरोधक छमता काफी हद तक मजबूत हो चुकी होगी।

क्योंकि बाकि के देशों में भी देखा गया है इसका प्रभाव पहले की तुलना में कम  है क्योंकि दूसरे देशों में ज्यादा तर लोगों का कोरोना टीका करण हो चूका है और उन्हें अपने अंदर कोरोना वायरस से लड़ने के लिए रोगप्रतिरोधक छमता को विकसित करने का काफी समय मिल चूका है।

कोरोना तीसरी लहर से बचाव

जैसा की अब तक आपको पता ही होगा की कुछ केश मिले है कोरोना वायरस के जो की अलग अलग देशों में चल रही तीसरी लहर के मरीजों से काफी हद तक मिलते जुलते लग रहे है, हालाँकि अब तक अधिकारीक रूप से ये नहीं कहा गया है तीसरी लहर आ चुकी है या  शुरुआत हो चुकी है, अभी केवल लक्षणों के आधार पर बताया गया है की चल रहे delta variant में पाए जाने वाले लक्षणों के आधार पर भारत देश के कुछ राज्यों में कोरोना वायरस के मरीजों को देखा गया है। तो इस आधार पर हम ये नहीं कह  सकते है की delta variant हमारे देश में आ चूका है, क्योंकि ये केवल लक्षणों के आधार पर कहा गया है।

तो अगर बचाव की बात करे की आने वाली कोरोना वायरस की तीसरी लहर से किस तरह बचा जाय, तो अगर आपका भी यही सवाल है तो आपको कोरोना वायरस को समझना पड़ेगा क्योंकि अब तक जो भी बताया गया है वो कही न कही काम तो करता ही है कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए।

लेकिन जैसा की आपने कोरोना की पहली लहर और दूसरी लहर में जिस तरह से अफरा तफरी देखी थी उसको देख कर अगर आप सरकार से उम्मीद कर रहे है की जब तीसरी लहर आएगी तो सरकार हमारी मदद करेगी, तो जैसा की सभी लगभग सभी डॉक्टरों को यही कहना है की आप अपनी सुरक्षा की जिम्मेदारी  खुद उठाये, क्योंकि सरकार द्वारा हर चीज की गाइड लाइन जारी कर दी जाती है, और सरकार जब भी कोई गाइड लाइन जारी करती है तो उसके पीछे  बहुत से विशेषज्ञों का हाथ रहता है जो की किसी भी सम्बंधित विषय में पूरी तरह से जाँच पड़ताल कर के ही जारी किया जाता है।

तो आप सरकार द्वारा जारी की गई गाइड लाइन का जरूर पालन करे और अगर गाइड लाइन की बात करे तो मै आपको बताना चाहूंगा की कोरोना को रोकने में लिए जो सबसे जरूरी है वो है सामाजिक दूरी मतलब लोगों से जितना ज्यादा हो सके दूर रहे, बहुत जरूरी होने होने पर ही घर से बाहर जाये, और हो सके तो office का काम अपने घर से ही करे, जहाँ पर ज्यादा लोग हों उस जगह पर जाने से बचे और अगर जाना भी पड़े तो मास्क लगा कर जाये, और अपने हाथों को जब भी कोई बहरी चीज छुए तो सेनेटाइजर या फिर साधारण साबुन से हाथों को जरूर धोये आदि चीजो का जरूर पालन करे।

कोरोना तीसरी लहर अब तक की कोरोना के मुकाबले ज्यादा प्रबल हो सकता है

बहुत से लोगों का ये सवाल रहता है की क्या इस बार जब कोरोना की तीसरी लहर आएगी तो क्या अब तक के चल तरहे कोरोना के मुकाबले ज्यादा प्रबल होगा या फिर कमजोर रहेगा, तो दोस्तों मै आपको बताना चाहूंगा की सूत्रों के अनुसार अब तक की जो भी जानकारी मिली है उसके आधार पर तीसरी लहर में कोरोना वायरस पहली और दूसरी लहर के मुकाबले कमजोर रहेगा क्योंकि कुछ डॉक्टरों का कहना है की अब काफी मात्रा में लोगों में heart Immunity देखि गयी है।

और हार्ट इम्युनिटी के साथ साथ कोरोना टीकाकरण भी काफी तेजी से हो रहा है, जिस वजह से रोगप्रतिरोधक छमता लोगों के अंदर बढ़ गई है, और कई चीजों को देखते हुए जानकारों का यही मानना है की तीसरी लहर पहले की तुलना में कमजोर रहेगी, कोरोना की तीसरी लहर।

तो ये थी कुछ जानकारी कोरोना वायरस के तीसरी लहर के बारे में तो मै उम्मीद करूंगा की आप सभी को हमारा आज का article कोरोना तीसरी लहर, अच्छे से समझ में आ गयी है और आपको कोरोना वायरस से सम्बंधित कुछ बाते जैसे की तीसरी  लहर क्या है इससे  कैसे बचा जय आदि चीजे भी समझ में आयी होंगी, कोरोना की तीसरी लहर।

Leave a Comment